सीमा पर बढ़ी घुसपैठ ,पाकिस्तान का हाथ: एंटनी

Image caption रक्षामंत्री का कहना है कि बिना पाकिस्तानी सहयोग के घुसपैठ में इज़ाफ़ा नहीं हो सकता

भारतीय रक्षामंत्री एके एंटनी ने कहा है कि भारत-पाक नियंत्रण रेखा पर पिछले कुछ समय से घुसपैठ की घटनाओं में बढ़ोत्तरी हुई है और इसमें पाकिस्तान की भूमिका है.

पत्रकारों से बातचीत करते हुए एक सवाल के जवाब में एंटनी ने कहा, ''हम इस सारे नए घटनाक्रम पर नज़र बनाए हुए हैं.''

केरन सेक्टर में दो हफ़्ते तक चली सैन्य कार्रवाई पर उठे सवाल पर उन्होने कहा, ''घुसपैठियों को रोकने या इन घटनाओं को कम करने के बजाए ये बढ़ती चली जा रही हैं. इसका मतलब ये है कि इसमें सीमा पार के तत्व शामिल हैं. पाकिस्तान की जानकारी और उसके मूक सहयोग के बिना यह नहीं हो सकता.''

एंटनी ने इस मुद्दे को गंभीर बताते हुए कहा,''यह हमारे लिए चिंता की बात है.''

'चिंता की बात'

ग़ौरतलब है कि दो हफ़्तों तक चलने वाले ऑपरेशन केरन के ख़त्म होने की घोषणा के बाद भी स्थिति स्पष्ट नहीं हुई कि आख़िर वहां हुआ क्या था.

भारत और पाकिस्तान अपने बीच की अस्थायी सीमा रेखा, जिसे नियंत्रण रेखा कहा जाता है, पर युद्धविराम बनाए रखने के लिए सहमत हैं. लेकिन दोनों देश एक-दूसरे पर युद्धविराम के उल्लंघन का आरोप लगाते रहे हैं.

पत्रकारों से बातचीत के दौरान केंद्रीय रक्षा मंत्री ऑगस्ता वेस्टलैंड चॉपर डील पर सरकार की कार्रवाई के बारे में बताया.

ऑगस्ता वेस्टलैंड चॉपर डील के मामले पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा, ''हमें क़ानून के हिसाब से चलना होगा.उन्होंने क़ानून का उल्लंघन किया है. अपने हितों की रक्षा के मद्देनज़र हमने उन्हें कारण बताओ नोटिस दे दिया है. उन्हें 21 दिन का समय दिया गया है.''

माना जा रहा है कि भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते भारत ऑगस्ता वेस्टलैंड को दिए 12 चॉपर के ऑर्डर रद्द कर सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार