रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ मुंबई शेयर बाज़ार

सेंसेक्स, सूचकांक, शेयर बाज़ार, रिकॉर्ड उछाल
Image caption इस साल अगस्त में रुपया डॉलर के मुकाबले अपने न्यूनतम स्तर पर पहुँच गया था.

बुधवार को मुंबई शेयर बाज़ार में रिकॉर्ड उछाल आई. मुंबई शेयर बाज़ार का सूचकांक अब तक के सबसे ऊँचे स्तर 21,033.97 पर बंद हुआ.

वैसे तो जनवरी, 2008 में मुंबई शेयर बाज़ार का सेंसेक्स 21,206.77 तक के स्तर तक जा पहुँचा था. लेकिन बाज़ार बंद होने तक उसमें कमी आ गई थी.

बुधवार को सेंसेक्स जिस स्तर पर बंद हुआ है, वो अब तक का उच्चतम स्तर है.

सूचकांक में यह उछाल बाज़ार में विदेशी मुद्रा की ज़्यादा आमद के कारण आया. सूचकांक ने साल 2010 के उच्चतम स्तर के रिकॉर्ड को तोड़ दिया. बाजार के इस रुख से वैश्विक बाज़ार में आई राहत का संकेत मिलता है.

मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक 0.50 प्रतिशत या 104.96 अंको की उछाल के साथ बुधवार को 21,033.97 अंकों पर बंद हुआ.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार बाज़ार में तेजी मुख्यतः टेलीकॉम और बैंकिग सेक्टर के कारण आई.

इससे पहले सूचकांक 05 नवंबर, 2010 को अधिकतम 21,004.77 अंकों पर बंद हुआ था.

इस महीने भारतीय शेयर बाज़ार में 2.38 अरब डॉलर (करीब 1.40 खरब रुपए) का विदेशी निवेश हुआ है.

रेगुलेटरी डाटा के अनुसार वर्ष 2013 में कुल 16.03 अरब डॉलर (करीब 9.85 खरब रुपए)की विदेशी ख़रीद हुई है.

अमरीका से उम्मीद

यूएस सेंट्रल बैंक द्वारा व्यापक वित्तीय सहायता के कार्यक्रमों में इस साल के अंत तक कमी न करने की उम्मीद को एशियाई बाज़ारों में तेज़ी आने का मुख्य कारण माना जा रहा है.

अमरीकी फ़ेडरल बैंक बुधवार को समाप्त होने वाली दो दिवसीय बैठक में वित्तीय सहायता कार्यक्रमों के बारे में फ़ैसला करेगा.

भारतीय की आर्थिक विकास की दर में काफ़ी कमी आई थी. रुपए के कमज़ोर होने और व्यापार घाटे में बढ़ोत्तरी के कारण भी भारतीय बाज़ार पर दबाव बढ़ गया था.

अमरीकी कार्यक्रमों के बंद होने की आशंका के कारण भारतीय बाज़ार से विदेशी निवशकों की लिवाली में कमी आई थी लेकिन वैश्विक और घरेलू स्तर पर स्थिति सामान्य होने के बाद इसमें फिर से तेज़ी आनी शुरू हो गई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार भारत के अलावा चीन, जापान, हांगकांग, ताइवान, सिंगापुर और दक्षिण कोरिया के बाज़ार में भी तेजी आई है.

इसके अलावा फ़्रांस, जर्मनी और इंग्लैंड में भी सूचकांक में वृद्धि दर्ज की गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार