रांचीः ज़िंदा बम और विस्फ़ोटक बरामद, दो लोग हिरासत में

जब्त किए गए बम

कई ज़िंदा बम और बम बनाने की सामाग्री की बरामदगी के मामले में रांची पुलिस ने देर रात दो लोगों को हिरासत में लिया.

झारखंड पुलिस के अनुसार रांची में एक छापे के दौरान कई ज़िंदा बम और भारी मात्रा में बम बनाने की सामग्री बरामद हुई है.

पुलिस के मुताबिक़ इरम लॉज पर मारे गए छापे में उसे नौ बम, 19 डेटोनेटर समेत दर्जनों जिलेटिन की छड़ें मिली हैं.

इसके अलावा लॉज के कमरे से ऊर्दू में लिखे दो बंडल कागजात और पटना के कई जगहों के स्केच भी मिले हैं.

पुलिस के अनुसार इस कमरे में मुजीबुल अंसारी रहते थे. इस कमरे को पुलिस ने सील कर दिया है.

स्थानीय संवाददाता नीरज सिन्हा के अनुसार पुलिस ने ओरमांझी थाना क्षेत्र के चकला गांव से मुजीबुल के पिता ज़ाबिर अंसारी और भाई ज़िकरुल्ला अंसारी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

मुजीबुल अंसारी को पुलिस हिरासत में नहीं ले सकी है.

मुजीबुल के पिता ने पुलिस को जानकारी दी है कि मुजीबुल ने परिवार को बताया था कि वे लॉज में रहकर प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करते हैं.

शक्तिशाली बम

रांची पुलिस के अनुसार बम डिस्पोजल स्कवॉयड (बम निरोधक दस्ता) की टीम ने बरामद ज़िंदाबमों को देर रात रांची के ऑर्चरी ग्राउंड में निष्क्रिय किया.

पुलिस के अनुसार बराम किए गए सभी बम काफी शक्तिशाली और बड़ा नुकसान पहुँचाने में सक्षम थे.

झारखंड के पुलिस महानिदेशक राजीव कुमार ने बताया है कि पटना में हुए बम धमाके के बाद लगातार मिल रही सूचनाओं पर कार्रवाई चल रही है.

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि राज्य के सभी जिलों को सतर्क कर दिया गया है.

झारखंड पुलिस का कहना है कि उसे रांची में एक छापे के दौरान कई ज़िंदा बम और भारी मात्रा में बम बनाने की सामग्री मिली है.

पुलिस के मुताबिक़ इरम लॉज पर मारे गए छापे में उसे नौ बम, 19 डेटोनेटर समेत दर्जनों जिलेटिन की छड़ें मिली हैं.पुलिस महानिरीक्षक ने बताया है कि बमों में टाईमर लगे थे.

उत्तरी छोटानागपुर अंचल के पुलिस महानिरीक्षक एमएस भाटिया ने इसकी पुष्टि की.

ख़ुफिया सूचना

Image caption नरेंद्र मोदी की पटना रैली के दिन हुए धमाकों में छह लोगों की मौत हो गई थी.

पुलिस ने रांची के हिंदपीढ़ी मुहल्ले के लॉज पर देर शाम छापा मारा.

पुलिस का दावा है कि ख़ुफिया सूचना मिली थी कि वहां संदिग्ध गतिविधियां चल रही हैं.

हालांकि इस मामले में अभी किसी की गिरफ्तारी की बात नहीं कही गई हैं.

छापे में बरामद विस्फोटक सामान के बाद पुलिस आगे की छानबीन में जुटी है.

पटना विस्फोट: एक संदिग्ध हमलावर की मौत

पटना में नरेंद्र मोदी की रैली से पहले और उसके आसपास हुए बम धमाकों के सिलसिले में रांची में लगातार छापे पड़ रहे हैं.

घटना के सिलसिले में हिरासत में लिए गए इम्तियाज़ के घर से रांची पुलिस ने कई तरह की सामग्री मिलने का दावा किया है.

इम्तियाज़ रांची के सीठियो के रहने वाले हैं.

इसके बाद रांची के ही डोरंडा थाना क्षेत्र के मणिटोला के रहने वाले उरैज़ को एनआईए गिरफ्तार कर दिल्ली ले गई. उरैज पर आरोप है कि वे इम्तियाज को आर्थिक मदद पहुंचाते थे.

इस मामले में एक सदिंग्ध तारिक़ की मौत इलाज के क्रम में हो गई है. वे भी रांची के सीठियो के रहने वाले थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार