तेजपाल पर और केस मुमकिन

Image caption मामले की स्वतंत्र एजेंसी से जांच के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं तेजपाल.

कथित यौन शोषण का आरोप झेल रहे तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल के खिलाफ गोवा पुलिस जरूरत पड़ने पर कुछ और मामले दर्ज कर सकती है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ गोवा के उप पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) ओपी मिश्रा ने कहा है कि जांच में कई चीजें सामने आई हैं, जिसके आधार पर तेजपाल के खिलाफ नए मामले दर्ज किए जाने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

इस बीच मामले की जांच करने दिल्ली गई गोवा पुलिस की तीन सदस्यीय टीम तेजपाल से पूछताछ किए बिना गोवा लौट गई है.

इस टीम ने पत्रिका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरीऔर उन तीन लोगों से पूछताछ की, जिनसे पीड़ित युवा पत्रकार ने घटना के बारे में ज़िक्र किया था.

ऐसी संभावना है कि पुलिस पूछताछ से अभी तक बचे तेजपाल मामले की जांच एक स्वतंत्र एजेंसी से कराने के लिए अदालत का दरवाज़ा खटखटाने पर विचार कर रही है.

उधर, दिल्ली पहुंची गोवा पुलिस की टीम ने तहलका पत्रिका के दफ़्तर से एक हार्ड डिस्क, तेजपाल, चौधरी और पीड़ित पत्रकार के बीच हुए ई-मेल्स की प्रति और अन्य दस्तावेज़ ज़ब्त कर लिए.

मिश्रा ने कहा कि क्राइम ब्रांच की टीम ने दिल्ली में चौधरी से पूछताछ की है और ज़रूरी दस्तावेज़ ज़ब्त किए हैं.

उन्होंने कहा कि जांच के दौरान उन्होंने कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी ज़ब्त किए हैं.

नौ घंटे पूछताछ

उन्होंने कहा कि पहले दौर की पूछताछ के बाद पुलिस टीम गोवा लौट गई है और वह आगे की जांच कर रही है.

चौधरी से गोवा पुलिस ने शनिवार को शाम 4.45 बजे से लेकर रात दो बजे तक क़रीब नौ घंटे पत्रिका के ग्रेटर कैलाश स्थित दफ़्तर में पूछताछ की. पुलिस ने उनके मोबाइल फोन, आईपैड और लैपटॉप की भी जांच की.

पूछताछ के बाद चौधरी ने कहा कि पुलिस पूछताछ में मिलनसार माहौल था. उनका कहना था कि उन्होंने पुलिस को पूरा सहयोग किया और सभी ज़रूरी दस्तावेजों, सभी साथियों के बीच हुए ई-मेल्स दिखाए. यह एक अच्छा अनुभव था और मैं आशा करती हूं कि इससे पूरे मामले में स्पष्टता और न्याय मिलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार