छह दिन की पुलिस हिरासत में भेजे गए तेजपाल

तरुण तेजपाल

यौन उत्पीड़न मामले में गिरफ़्तार किए गए तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल को अदालत ने छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. पुलिस ने रविवार सुबह लगभग 11 बजे तेजपाल को अदालत में पेश किया.

मीडिया को अदालत में दाख़िल होने की अनुमति नहीं दी गई है.

इससे पहले शनिवार देर शाम उन्हें गोवा पुलिस के क्राइम बैंच दफ़्तर से ग़िरफ़्तार किया गया.

शनिवार को गोवा के ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश ने तहलका पत्रिका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल की अंतरिम ज़मानत अर्ज़ी ख़ारिज कर दी थी.

पुलिस ने तरुण तेजपाल को भारतीय दंड संहिता की धारा 41 बी के तहत ग़िरफ़्तार किया था.

अदालत ने तेजपाल के वकीलों की यह दरख़्वास्त मान ली थी कि उनके परिवार के लोग, दोस्त और वकील उनसे मिल सकते हैं और उन्हें घर का खाना मिलेगा.

पुलिस ने रविवार को तेजपाल को अदालत में पेश कर रिमांड की मांग की थी.

Image caption तेजपाल पर अपनी साथी पत्रकार के यौन उत्पीड़न करने का आरोप है

रिमांड मिलने के बाद अब तेजपाल से पूछताछ शुरू होगी. इसमें उन्हें स्थानों पर ले जाया जा सकता है जहां अपराध घटित होने की बात कही गई है.

'प्रभावित हो सकती है जांच'

इससे पहले, बचाव पक्ष की वकील गीता लूथरा ने अदालत से ज़मानत देने की माँग करते हुए कहा था कि तेजपाल जाँच में सहयोग के लिए गोवा में रहने के लिए तैयार हैं. तेजपाल ने अदालत को विदेश न जाने का भी भरोसा दिलाया था.

वहीं अभियोजन पक्ष ने मामले की गंभीरता का हवाला देते हुए अदालत से तेजपाल को ज़मानत न देने की गुहार लगाई थी.

अभियोजन पक्ष का तर्क था कि आरोपी अपने रुतबे और हैसियत का इस्तेमाल कर जाँच को प्रभावित कर सकते हैं.

अभियोजन पक्ष ने अदालत को यह भी बताया कि पीड़िता अपने परिवार में कमाने वाली अकेली सदस्य हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार