मेरी जीत से लोगों को मिला करारा जवाब: फ़िरोज़ फ़ातिमा

फ़िरोज़ फ़ातिमा, अमिताभ बच्चन

22 साल की फ़िरोज़ फ़ातिमा के चेहरे की ख़ुशी देखते ही बनती है. वो बात-बात पर हंस देती हैं लेकिन जब मैंने उनसे बात शुरू की तो पूरी संजीदगी से उन्होंने जवाब दिए.

वही संजीदगी और समझदारी जो उन्हें गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के सातवें संस्करण में एक करोड़ रुपए जिता गई.

जी हां, फ़िरोज़ फ़ातिमा 'केबीसी' के इस सत्र की पहली महिला करोड़पति हैं. वो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर ज़िले के संसारपुर नाम के छोटे से गांव की रहने वाली हैं और उन्होंने इसी साल अपनी बीएससी की शिक्षा पूरी की.

('केबीसी-7' के पहले करोड़पति)

अपनी जीत का श्रेय वो अपनी शिक्षा को देती हैं. फ़िरोज़ फ़ातिमा ने कहा, "मेरे पिता दो साल पहले गुज़र गए. उसके बाद हमारे परिवार में मुसीबतें टूट पड़ीं. अगर मैं पढ़ी लिखी ना होती तो ये कामयाबी हासिल ही ना कर पाती. आज मैं जो कुछ हूं अपनी शिक्षा की वजह से हूं."

जवाब

Image caption 22 साल की फ़िरोज़ फ़ातिमा ने 'कौन बनेगा करोड़पति' में एक करोड़ रुपए जीते.

फ़िरोज़ के घर में उनकी एक और बहन और मां हैं. उन्होंने बताया कि बचपन से ही उनके रिश्तेदार उन्हें शिक्षा देने के विरोधी थे.

(जिनके लिखे पर बोलते हैं बिग बी)

वो कहती हैं, "मेरे अम्मी-अब्बा से सब कहते कि लड़कियों को क्यों पढ़ा रहे हो. उन्हें आख़िर तो रोटी ही बनानी है. लेकिन मेरे मां-बाप ने उन लोगों की एक ना सुनी. अब देखिए मेरी जीत से उन लोगों को करारा जवाब मिल गया."

फ़िरोज़ दावा करती हैं कि जब से लोगों को पता चला है कि उन्होंने 'केबीसी' में एक करोड़ रुपए जीते तब से उनकी सोच भी बदल रही है और अब वो भी अपनी बच्चियों को शिक्षा देने के हिमायती बन गए हैं.

मलाला की प्रशंसक

फ़िरोज़ के साथ उनकी मां भी शो में आई थीं. वो अपनी मां को एक बहादुर महिला बताते हुए कहती हैं कि पिता के गुज़र जाने के बाद मां की वजह से ही वो अपनी पढ़ाई जारी रख पाईं.

(कहां हैं 'केबीसी' के पहले करोड़पति)

परंपरागत मुस्लिम परिधान पहनी हुई फ़िरोज़ मानती हैं कि पहनावे से कोई फ़र्क नहीं पड़ता बल्कि इंसान की सोच बेहतर होनी चाहिए. वो मलाला यूसुफ़ज़ई को अपना आदर्श मानती हैं.

फ़िरोज़ ने बताया कि पिता के गुज़रने के बाद कुछ लोगों ने उनके पारिवारिक व्यवसाय को हथियाने के प्रयास किए लेकिन उन्होंने पुलिस के आला अधिकारियों की मदद से इस समस्या को सुलझाया.

फ़ातिमा के शब्दों में, "आप चाहे शहर में रह रहे हों या गांव में. अगर आपको अपने अधिकार पता हैं तो आपका कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा."

'अमिताभ जैसा कोई नहीं'

'कौन बनेगा करोड़पति' के मेज़बान अमिताभ बच्चन के बारे में फ़िरोज़ कहती हैं कि वो माहौल को बेहद हल्का बना देते हैं.

फ़िरोज़ के मुताबिक़, "जब मैं हॉट सीट पर पहुंची तो बेहद नर्वस थी. लेकिन अमिताभ जी ने मुझे हौसला दिया और इतनी अच्छी बातें कीं कि मेरी सारी घबराहट दूर हो गई. मैं उनसे गले भी मिली. मुझे बहुत अच्छा लगा."

शादी के बारे में क्या ख़्याल है. ये पूछने पर उन्होंने कहा कि अभी इस बारे में उन्होंने कुछ नहीं सोचा लेकिन जब भी वो शादी करेंगी मां की रज़ामंदी लेकर ही करेंगी.

इनामी रकम

शो में जीते गए रुपयों का वो कैसे इस्तेमाल करेंगी. फ़ातिमा ने बताया, "पिता के इलाज के लिए जो लोन लिया था उसे चुकाउंगी. फिर अपनी और बहन की शिक्षा के लिए पैसे का इस्तेमाल होगा. फिर क्या करूंगी पता नहीं क्योंकि कभी सोचा नहीं था कि इतना पैसा एक साथ मिल जाएगा."

('जब मैंने खेला केबीसी')

फ़िरोज़ फ़ातिमा आगे लोक सेवा आयोग परीक्षाओं की तैयारी करना चाहती हैं.

फ़िरोज़ फ़ातिमा ने जिस एपिसोड में एक करोड़ रुपए जीते हैं वो 'केबीसी' के सातवें संस्करण का आख़िरी एपिसोड है और इसका प्रसारण रविवार, एक दिसंबर को होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित समाचार