आसाराम के बेटे नारायण साईं गिरफ़्तार

  • 4 दिसंबर 2013
नारायण साईँ

आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं को सूरत बलात्कार मामले में दिल्ली-हरियाणा सीमा पर दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एक टीम ने गिरफ़्तार कर लिया है, समाचार एजेंसी पीटीआई ने ये ख़बर दी है.

आसाराम पर जोधपुर आश्रम में बलात्कार के आरोप लगने के बाद उनके बेटे नारायण साईं पर सूरत में बलात्कार का मामला दर्ज हुआ था.

यह मामला दो सगी बहनों ने दर्ज कराया था. सूरत के जहांगीरपुरा थाने में दर्ज कराई गई इस एफ़आईआर के मुताबिक़ आसाराम ने बड़ी बहन का यौन शोषण किया था वहीं नारायण साईं ने छोटी बहन से बलात्कार किया था.

एफ़आईआर में आसाराम की पत्नी और बेटी के नाम भी शामिल है. आश्रम में इन दोनों बहनों को आयुर्वेदिक दवाएं बनाने का काम दिया गया था.

मामला

Image caption नारायण साईँ के पिता आसाराम बलात्कार का आरोप लगने के बाद जेल में हैं.

छोटी बहन की शिकायत के मुताबिक़ आसाराम के बेटे नारायण साईं ने उससे सूरत के जहांगीरपुरा आश्रम के अलावा साबरकांठा ज़िले के गांभोई आश्रम, पटना आश्रम, काठमांडू आश्रम और मध्य प्रदेश के मेघनगर आश्रम में बलात्कार किया.

बड़ी बहन के मुताबिक़ आसाराम ने अहमदाबाद के मोटेरा आश्रम में साल 2001 से 2007 के बीच उसका यौन शोषण किया.

आसाराम इस समय जोधपुर जेल में बंद हैं. राजस्थान हाईकोर्ट में उनकी ज़मानत याचिका रद्द हो चुकी है.

एफ़आईआर के मुताबिक़ छोटी बहन वर्ष 2002 से 2004 तक आश्रम में साधक रहीं. छोटी बहन को थोड़े समय के लिए आसाराम के हिम्मतनगर आश्रम की संचालिका भी बनाया गया था.

दोनों का आरोप है कि उन्होंने जब ख़ुद पर होने वाले अत्याचार का विरोध किया तो उन्हें परेशान किया गया और बाद में आश्रम में चोरी का झूठा आरोप लगाकर निकाल दिया गया.

बड़ी बहन क़रीब 10 साल आसाराम के आश्रम में साधक रहीं और साल 2007 में उन्होंने आश्रम छोड़ा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार