कांग्रेस करे भ्रष्टाचार की बात, हैरानी है: मोदी

नरेंद्र मोदी (फ़ाइल फ़ोटो)

भारतीय जनता पार्टी की तरफ़ से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश की समस्याओं का कारण कांग्रेस शासित सरकारें हैं.

मुंबई में भाजपा की एक बड़ी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही.

'कांग्रेस मुक्त भारत' का नारा बुलंद करते हुए मोदी ने कहा, "देश की समस्याओं का कारण देश की जनता नहीं है. यहां का इतिहास या भूगोल नहीं है, बल्कि कांग्रेस शासित सरकार देश की समस्या का कारण है."

उन्होंने वोट बैंक की खातिर कांग्रेस पर समाज को बांटने आरोप भी लगाया.

विकास की राजनीति

मोदी ने कहा, “भाजपा विकास की राजनीति को समर्पित है. विकास के बिना देश के दलितों, पीड़ितों और ग़रीबों का विकास नहीं होगा.”

उन्होंने कहा, "क्या कारण हैं कि महाराष्ट्र के किसान को बार-बार अकाल झेलना पड़ा है, आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ता है. अगर भाजपा का शासन होता तो ऐसा नहीं होता."

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस को विकास की राजनीति में भरोसा नहीं है. उन्होंने केंद्र सरकार पर युवाओं की अनदेखी का आरोप लगाया.

उन्होंने आरोप लगाया कि युवाओं को बिना सिफारिश और रिश्वत नौकरी नहीं मिलती.

अप्रत्यक्ष रूप से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, "एक कांग्रेस के बड़े नेता भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ भाषण दे रहे थे." उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबी कांग्रेस के मुंह से ऐसी बातें हैरान करती हैं.

शनिवार को ही दिल्ली में फिक्की के एक कार्यक्रम में राहुल गांधी ने भ्रष्टाचार को एक बड़ी समस्या बताया था.

काला धन

Image caption नरेंद्र मोदी अगले साल होने वाले आम चुनावों के मद्देनज़र देश भर में रैलियां कर रहे हैं

उन्होंने कहा, "दिल्ली में नेता भाषण दे रहे थे काले धन पर, लेकिन सरकार उनकी है. काला धन रोकने की ज़िम्मेदारी उनकी है."

मोदी ने कहा कि अगर तय कर लिया जाए तो भ्रष्टाचार को ख़त्म किया जा सकता है.

उन्होंने दावा किया कि भाजपा के किसी भी नेता का पैसा विदेशी बैंक में नहीं है.

उन्होंने केंद्र सरकार को चुनौती दी कि वह काले धन को वापस लाने के लिए क़ानून बनाए. मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार ऐसा नहीं करेगी क्योंकि उसी के नेता 'इस पाप' में डूबे हुए हैं.

फ़िल्मों की यूनिवर्सिटी बने

उन्होंने मनमोहन सिंह सरकार पर अल्पसंख्यकों से झूठे वादे करने का आरोप लगाया.

बॉलीवुड नगरी में मोदी ने कहा कि भारतीय सिनेमा के सौ साल को शानदार अंदाज में मनाया जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार बताए हुए मोदी ने फिल्मों को पूरी तरह समर्पित एक यूनिवर्सिटी की जरूरत पर जोर दिया.

मोदी ने अपने चिर-परिचित अंदाज़ में मुंबई में अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय मराठी भाषा में की.

पार्टी द्वारा प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद मुंबई में नरेंद्र मोदी की यह पहली रैली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार