'मतभेद' भुलाकर राज ठाकरे और अमिताभ आए एक साथ

सचिन पिलगांवकर, राज ठाकरे, अमिताभ बच्चन

अपने पांच साल के मतभेद भुलाकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अध्यक्ष राज ठाकरे और अमिताभ बच्चन सोमवार को एक ही मंच पर नज़र आए.

राज ठाकरे ने कहा कि उनके और अमिताभ के बीच जो हुआ वो पुरानी बात थी.

दोनों, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की सिनेमा विंग के एक कार्यक्रम में साथ आए जिसके लिए राज ठाकरे ने विशेष तौर पर अमिताभ को आमंत्रित किया. इस कार्यक्रम में मराठी और हिंदी सिनेमा के जाने-माने कलाकार सचिन पिलगांवकर और निर्देशक महेश मांजरेकर भी मौजूद रहे.

('चेन्नई एक्सप्रेस' पर बरसे राज ठाकरे)

राज ठाकरे ने अमिताभ की तारीफ़ों के पुल बांधते हुए कहा, "अमिताभ जैसे सितारे किसी किसी ख़ास राज्य के नहीं बल्कि पूरे देश की धरोहर हैं."

रिश्तों में 'कड़वाहट'

Image caption बीते सालों में राज ठाकरे ने कई बार अमिताभ की आलोचना की.

बीते सालों में कई बार राज ठाकरे, अमिताभ बच्चन पर उत्तर प्रदेश और गुजरात जैसे राज्यों का ब्रांड एंबेसडर बनने पर तंज कस चुके हैं.

राज ठाकरे ने अपने भाषणों में लगातार कहा था कि महाराष्ट्र में इतने साल बिताने के बाद भी अमिताभ को दूसरे राज्यों का ब्रांड एंबेसडर होना शोभा नहीं देता.

('लोग बोले, भूल जाओ एक्टर बनना')

इसके अलावा एक कार्यक्रम में अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन के मराठी में ना बोलने पर भी राज ठाकरे ने उनकी आलोचना की थी.

हालांकि अमिताभ बच्चन ने राज ठाकरे की इन तमाम बातों पर मौन ही साधे रखा.

राज ठाकरे के बदले सुर

लेकिन सोमवार को राज ठाकरे के सुर बिलकुल बदले नज़र आए.

उन्होंने कहा, "जो बीत गया सो बीत गया. मैंने कभी अमिताभ पर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं की. मेरा तो हमेशा से यही मानना था कि उनके जैसे कद का कलाकार ना तो पहले कभी हुआ और ना ही होगा. और इसी नाते वो किसी राज्य विशेष के नहीं बल्कि पूरे देश के ब्रांड एंबेसडर हैं."

राज ठाकरे के मुताबिक़ अमिताभ के जन्मस्थान इलाहाबाद के लोग उनसे जितना प्यार करते हैं उतना ही महाराष्ट्र राज्य के लोगों का भी उनसे लगाव है.

राज ठाकरे ने अमिताभ की हिंदी भाषा पर पकड़ की भी तारीफ़ की और कहा कि टीवी गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' का वो जिस तरह से संचालन करते हैं वो क़ाबिले-तारीफ़ है.

इससे पहले अमिताभ ने जब इस कार्यक्रम में अपना भाषण मराठी में शुरू किया तो वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर इसका स्वागत किया.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित समाचार