क्रिसमस और गोवा के ज़ायके

  • 25 दिसंबर 2013

क्रिसमस के मौके पर गोवा के पुराने गाँवों में हर तरफ परंपरागत मिठाई और केक बनाने की ख़ुशबू फैली हुई है.

गोआ के स्थित मशहूर शेफ़ वास्को अल्वारेस ने बीबीसी को बताया कि किस तरह उनकी दादी मां स्वादिष्ट केक बनाया करती थीं. वास्को के मुताबिक उनकी मां का बनाया गुयावा चीज, जिसे स्थानीय तौर पर पेराद कहते हैं, वो भी बेहद स्वादिष्ट होता है.

दरअसल क्रिसमस के नज़दीक आते ही पूरा परिवार ऐसी मिठाइयां और केक बनाने के लिए जमा हो जाता है. वास्को ने बताया कि इस बार बहुत सारी मिठाइयां बनाने की तैयारी नहीं हुई लेकिन कई सारी चीजें बनाई जा रही हैं.

वास्को की पत्नी शर्मिला गिंजर ब्रेड हाउस कई तरह के कप केक कुकीज और ख़ास क्रिसमस ट्री केक बना रही है. वास्को अल्वारेस के पांच और आठ साल के दो बच्चे हैं. ये दोनों अपनी मां की ख़ूब मदद कर रहे हैं.

ख़ास बेर का केक

वास्को ने बताया, "बच्चे मदद करना चाहते हैं, वे भी सोचते हैं कि वे मदद कर रहे हैं लेकिन इससे केक और कुकीज़ बनाने में ज़्यादा वक्त लग रहा है."

क्रिसमस के दौरान सबसे अच्छे केक में बेर से बने केक को खूब पसंद किया जाता है. उत्सव के दौरान घर पर आए मेहमानों को इसे खिलाने की परंपरा रही है. इसे बनाया भी उतने ही प्रेम से जाता है.

रोस्ली फर्नांडीज़ के मुताबिक बेर का उम्दा केक बनाने में कम से कम पंद्रह दिन का वक्त तो लगता ही है. इसके लिए बेर, किशमिस, फल, मेवा इत्यादि को रम और चीनी में मिलाया जाता है.

जहां तक गोवा की परंपरागत मिठाइयों की बात है, तरह की तरह की मिठाइयों को काफी मेहनत से बनाया जाता है. गोवा की सबसे प्रसिद्ध मिठाई है बेबनिका.

जिसे नारियल पानी, गुड़, घी और आटे से बनाया जाता है.

नारियल-गुड़ का कमाल

वहीं दादोल की मिठाई ताज़े नारियल, पीसे हुए चावल और गुड़ की मदद से बनती है.

नारियल तेल और चीनी की मदद से सूखे कुलकुल के लड्डू बनाए जाते हैं. कोकद की बर्फ़ी सूजी और नारियल की मदद से बनती है. वहीं न्योरो काफ़ी हद तक उत्तर भारत में मिलने वाली गुजिया की याद दिलाती है, जबकि गोवा की स्थानीय मिठाई कोरमोला शक्कर पारे जैसा होता है.

हालांकि इन मिठाइयों में नारियल और गुड़ का ही इस्तेमाल होता है लेकिन इसमें ख़ास स्वाद इसे बनाने की तकनीक से आता है. यही वजह है कि गोवा में अब ज़्यादातर लोग इन मिठाइयों को बनवाने के लिए ख़ास तौर पर विश्वसनीय और पुरानी बेकरियों के पास ही पहुंचते हैं.

पंजिम बाज़ार में स्थित ब्रेगांजा स्टोर और मिस्टर बेकर की बेकरी इसके लिए बेहद मशहूर है. बेबनिका बनाने के लिए मांडवी नदी के सामने स्थित ए पेस्टलरिया भी काफ़ी मशहूर है.

अगर आप नए साल का जश्न बनाने गोवा जा रहे हों तो वहां के परंपरागत मिठाइयों का स्वाद जरूर लीजिए.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार