आंध्र प्रदेश के मंदिर में देवी सोनिया गांधी

Image caption सोनिया गांधी की प्रतिमा के साथ पी शंकर राव.

आंध्र प्रदेश में कांग्रेस के एक कार्यकर्ता सत्ताधारी पार्टी की मुखिया सोनिया गांधी का मंदिर तैयार करवा रहे हैं.

पूर्व मंत्री पी शंकर राव ने बताया कि नौ फुट ऊंची मूर्ति वाला यह मंदिर उनके नेता को एक श्रद्धांजलि है.

इतालवी मूल की 67 वर्षीय श्रीमती गांधी देश की सबसे ताकतवर राजनीतिज्ञों में से एक हैं.

वो सबसे प्रभावशाली उस गांधी परिवार से ताल्लुक रखती हैं, जिससे देश के तीन प्रधानमंत्री बने.

बीबीसी से बातचीत में राव ने कहा कि गत जुलाई में आंध्र प्रदेश के विभाजन और अलग तेलंगाना राज्य बनाने के पार्टी के फैसले के बाद सोनिया गांधी को धन्यवाद देने के लिए ही उन्होंने यह फैसला लिया.

यह मंदिर महबूबनगर में बन रहा है.

3.5 करोड़ आबादी वाले तेलंगाना इलाके में हैदराबाद समेत आंध्र प्रदेश के 23 जिलों के 10 जिले शामिल किए गए हैं.

राव ने कहा, ''अलग तेलंगाना राज्य बनाने की दशकों पुरानी मांग को पूरा करने में ऐतिहासिक भूमिका अदा करने के लिए सोनिया गांधी को धन्यवाद देने का यह हमारा तरीक़ा है.''

स्थानीय कलाकार मूर्ति को पूरा करने में जुटे हुए हैं.

राव को उम्मीद है कि यह मंदिर प्रसिद्धि पाएगा और लोग यहां श्रीमती गांधी की प्रार्थना करने आएंगे.

हालांकि अलग राज्य पर अंतिम निर्णय संसद में होना बाकी है. लेकिन इस संबंध में राज्य विधानसभा में भी 23 जनवरी तक एक प्रस्ताव पारित किया जाना है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार