उत्तर प्रदेश: सरकार ने रद्द किया 'डेढ़ इश्क़िया' का प्रीमियर

'डेढ़ इश्क़िया' और अखिलेश सिंह यादव

विपक्ष और मीडिया में चौतरफ़ा हमले के बाद उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में फ़िल्म 'डेढ़ इश्क़िया' का प्रीमियर रद्द कर दिया गया है. इसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव के शामिल होने की सूचना थी.

इस मौक़े पर अभिनेत्री हुमा क़ुरैशी और माधुरी दीक्षित को भी शामिल होना था.

मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ़ से यह जानकारी दी गई है.

उत्तर प्रदेश में शूट हुई फ़िल्म 'डेढ़ इश्क़िया' को बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद भी दी थी.

सरकारी संगठन उत्तर प्रदेश फ़िल्म उद्योग बंधु के नियमों के मुताबिक़ 75 फ़ीसदी तक फ़िल्म के प्रदेश में शूट होने और प्रदेश के कलाकार को फ़िल्म में जगह दिए जाने पर यह आर्थिक मदद दी जाती है, जो एक करोड़ रुपए तक हो सकती है. इससे पहले फ़िल्म 'बुलेट राजा' को भी यह सब्सिडी दी गई थी.

सैफ़ई से मचा हंगामा

दरअसल सारा हंगामा उत्तर प्रदेश सरकार के सैफ़ई महोत्सव से शुरू हुआ था , जिसमें सलमान ख़ान और माधुरी दीक्षित जैसे सितारों ने भी शिरक़त की थी.

इस महोत्सव में शामिल होने के लिए इन सितारों को भारी-भरकम रकम दी गई थी.

महोत्सव में मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव समेत उत्तर प्रदेश के कई मंत्री शामिल हुए थे. फ़िल्मी सितारों को विशेष चार्टर्ड प्लेन से सैफ़ई लाया गया, जिसमें कई करोड़ रुपए खर्च हुए.

Image caption माधुरी दीक्षित की सैफ़ई महोत्सव में शामिल होने के लिए आलोचना हुई थी.

विपक्षी दलों का आरोप था कि जब राज्य के मुज़फ़्फ़रनगर दंगों के बाद राहत कैंपों में रह रहे लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और ठंड से कैंप में रह रहे लोगों और बच्चों की बुरी हालत है, ऐसे में सरकार को किसी समारोह में करोड़ों रुपए खर्च करना और बॉलीवुड सितारों को बुलाना बेहद अफ़सोसजनक है.

मीडिया में भी अखिलेश सिंह यादव को इस पर कड़ी प्रतिक्रिया झेलनी पड़ी.

सितारों ने किया बचाव

इस बीच मुंबई में अभिनेत्री माधुरी दीक्षित ने सैफ़ई महोत्सव में शामिल होने के अपने फ़ैसले का बचाव किया है.

जब उनसे पूछा गया कि उनका ऐसे समारोह में शामिल होना क्या उनकी असंवेदनशीलता नहीं दिखाता, तो उन्होंने कहा, "मैं अपनी फ़िल्म के प्रमोशन के सिलसिले में जैसे कई जगह जा रही थी, तो सैफ़ई भी उसी मक़सद से गई. हमने दंगा पीड़ितों के लिए दान भी दिया है. अब सब कुछ उत्तर प्रदेश सरकार पर निर्भर करता है."

सलमान ख़ान ने भी अपने बचाव में कहा, "जब भी मैं किसी जगह जाता हूं या अपनी फ़िल्म के प्रमोशन के लिए जाता हूं तो इसे वहां के स्थानीय लोगों की मदद करने के मौक़े के रूप में भी देखता हूं. हमारी संस्था बीइंग ह्यूमन ने प्रदेश के बच्चों के इलाज के लिए 25 लाख रुपए दिए हैं."

अभिनेता शाहरुख़ ख़ान ने भी अपने साथी कलाकारों का बचाव किया. मुंबई में एक पुरस्कार समारोह से संबंधित प्रेस कॉन्फ़्रेंस में उन्होंने पत्रकारों से कहा, "हमेशा बॉलीवुड पर हमला करना ठीक बात नहीं है. उन कलाकारों ने कोई ग़लत काम नहीं किया है. जो भी हो रहा है वो अफ़सोसनाक है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार