मुंबई में नाबालिग़ का बर्बर उत्पीड़न, एक गिरफ़्तार

नौकरानी का उत्पीड़न
Image caption लड़की के शरीर पर कई जगह मारपीट के निशान मौजूद हैं

मुंबई से सटे मीरा रोड इलाके में पुलिस ने एक दंपति के ख़िलाफ़ नाबालिग़ घरेलू नौकरानी का शारीरिक उत्पीड़न करने का मामला दर्ज किया और एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार मीरा रोड में रहने वाले सगरील अंसारी और उनकी पत्नी फ़रहत के घर में 11 साल की एक लड़की लगभग एक साल से काम कर रही थी.

पुलिस के मुताबिक यह लड़की उत्तर प्रदेश के बदायूं ज़िले की रहने वाली है जिसके बदले में अंसारी दंपती ने उसके माता पिता को 15000 रुपये दिये थे.

लड़की का मुख्य काम अंसारी की डेढ़ साल की बेटी की देखभाल करना था, लेकिन वह उससे घर के बाकी काम भी करवाते थे.

अत्याचार

मीरा रोड पुलिस थाने के निरीक्षक धनाजी क्षीरसागर ने कहा, "अंसारी दंपति लड़की पर बर्बर अत्याचार करते थे. वो लड़की की जमकर पिटाई करते थे और जब पिटाई के चलते लड़की पेशाब कर देती थी तो उसके गुप्तांग में मिर्ची डालते थे और बाद में वही मिर्ची खाने के लिए उसे मजबूर करते थे."

उन्होने बताया, "पिटाई के दौरान उसकी चीखें पड़ोसियों तक न पहुंचे, इसके लिए वो लड़की के मुंह में कपड़ा ठूस देते थे और टीवी की अवाज़ तेज कर देते थे."

पुलिस के अनुसार ये सिलसिला कई महीनों से चल रहा था. आख़िरकार पिछले रविवार को जब ये लड़की अंसारी दंपति की बेटी को बगीचे में घुमाने ले गई तब उसने पड़ोसियों को आपबीती सुनाई.

पड़ोसियों ने लड़की को मीरा रोड पुलिस थाने ले जाकर अंसारी दंपति के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई. इसके बाद सगरील अंसारी को थाने लाकर पूछ्ताछ की गई.

पुलिस निरीक्षक क्षीरसागर ने बताया, “जब हम सगरील को थाने लेकर आए, तब गिरफ़्तारी के डर से उसकी बीवी फ़रहत घर से भाग गई."

सगरील को सोमवार को अदालत में पेश किया गया जिसके बाद उन्हें 21 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

पुलिस के अनुसार फ़रहत को तलाश करने के लिए दो टीमें बनाई गई हैं, उन्हें 'जल्दी गिरफ़्तार कर लिया जाएगा'.

भारत में घर में काम करने वाले बच्चों के शोषण का ये ताज़ा मामला है. बहुत से घरों में बच्चों से काम लिया जाता है, जबकि ये गैर कानूनी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार