कौन थीं सुनंदा पुष्कर?

  • 18 जनवरी 2014
सुनंदा पुष्कर शशि थरूर Image copyright
Image caption शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर की शादी अगस्त 2010 में हुई थी.

सुनंदा पुष्कर का जन्म एक जनवरी 1962 को हुआ था. वे मूलत: भारत-प्रशासित कश्मीर के सोपोर की रहने वाली थीं. उनके पिता पीएन दास भारतीय सेना में वरिष्ठ अधिकारी थे.

सुनंदा ने श्रीनगर के गवर्नमेंट कॉलेज फॉर वीमेन से स्नातक की पढ़ाई की थी. शशि थरूर के साथ उनकी तीसरी शादी थी. उनकी दूसरी शादी से सुनंदा का एक बेटा है, जो 21 साल का है.

सुनंदा पुष्कर का नाम सबसे पहले अप्रैल 2010 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की कोच्चि टीम की ख़रीद से जुड़े एक विवाद में सामने आया था.

आईपीएल विवाद

इस टीम की ख़रीद में शशि थरूर की भूमिका को लेकर सवाल उठाए गए थे. मामला इतना बढ़ा कि थरूर को केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा, लेकिन कुछ समय बाद उन्हें मंत्रिमंडल में दोबारा शामिल किया गया.

इस विवाद के बाद सुनंदा पुष्कर को भी कोच्चि टीम में अपनी हिस्सेदारी छोड़नी पड़ी थी. इससे पहले वे दुबई की एक कंपनी में काम करती थीं.

उस समय शशि थरूर ने सुनंदा पुष्कर से अपने रिश्तों की बात कबूल की थी और अगस्त 2010 में उन दोनों ने शादी कर ली.

''50 करोड़ की गर्लफ़्रेंड''

Image copyright AFP
Image caption सुनंदा ने कहा था कि भारतीय संविधान की धारा 370 की समीक्षा होनी चाहिए.

अक्तूबर 2012 में हिमाचल प्रदेश में एक चुनावी रैली के दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुनंदा पुष्कर को एक ''50 करोड़ की गर्ल फ्रेंड'' क़रार दिया था. ये बयान राजनीतिक हलकों और सोशल मीडिया में चर्चा का मुद्दा बना था.

इसके जवाब में शशि थरूर ने ट्विटर के ज़रिए मोदी को सलाह दी थी कि प्रेम की कोई क़ीमत नहीं होती.

इसके बाद भी शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर के बारे में भारतीय जनता पार्टी के हमले जारी रहे.

भाजपा के उपाध्यक्ष और राष्ट्रीय प्रवक्ता मुख़्तार अब्बास नक़वी ने एक बयान में शशि थरूर को 'लव गुरु' की उपाधि दे डाली और कहा कि अगर देश में लव मंत्रालय बनता है तो उस मंत्रालय का पदभार शशि थरूर को दिया जाना चाहिए.

अनुच्छेद 370

दिसंबर 2013 में सुनंदा पुष्कर ने भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का समर्थन करते हुए कहा था कि संविधान के अनुच्छेद 370 की समीक्षा होनी चाहिए.

अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा मिला हुआ है.

एक टेलीविज़न चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, "संविधान के अनुच्छेद 370 पर फिर से विचार करने की बेशक ज़रूरत है क्योंकि महिलाओं के खिलाफ़ भेदभाव होता है. कश्मीर से मेरी दोस्तों ने मुझे बताया है कि किसी ग़ैर-कश्मीरी से शादी करने के बाद हम लोगों को सरकारी नौकरियां नहीं मिलतीं. जो लड़कियां कश्मीर की न होते हुए भी कश्मीरी परिवार में शादी करती हैं, उन्हें सरकारी नौकरियां मिल जाती हैं और उनके बच्चों को सभी अधिकार मिलते हैं."

सवाल

15 जनवरी 2014 को अचानक शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर के रिश्ते पर सवाल उठ खड़े हुए, जब शशि थरूर के ट्विटर अकाउंट से पाकिस्तान की पत्रकार मेहर तरार को किए गए कुछ ट्वीट सामने आए, जिनसे लगता था कि उन दोनों के बीच संबंध हैं.

इसके बाद थरूर ने ट्वीट किया कि अकाउंट "हैक" कर लिया गया है. उधर पाकिस्तानी पत्रकार तरार ने ऐसे किसी संबंध से इनकार किया था.

विवाद के बढ़ने के बाद थरूर और सुनंदा ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा था, "हमारा वैवाहिक जीवन सुख से बीत रहा है और हम चाहते हैं कि यह ऐसा ही रहे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार