तेलंगाना पर हंगामा, पेपर स्प्रे और हाथापाई

भारतीय संसद इमेज कॉपीरइट PTI

तेलंगाना मुद्दे पर गुरुवार को संसद के दोनों सदनों में सांसदों के बीच हाथापाई हुई और मार्शलों को बीचबचाव के लिए सामने आना पड़ा.

कुछ सांसदों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. शोर-शराबे के बीच राज्यसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए और लोकसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित कर दी गई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक दोपहर 12 बजे केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने लोकसभा में तेलंगाना विधेयक पेश किया.

इसी दौरान तेलंगाना समर्थक और विरोधी सांसद लोकसभा अध्यक्ष की सीट के सामने पहुंच गए.

इस बीच विजयवाड़ा से कांग्रेस सांसद एल राजगोपाल ने जेब से निकालकर पेपर स्प्रे छिड़क दिया. इसकी वजह से कई सांसदों को तेज़ खांसी होने लगी और उन्होंने राजगोपाल पर हमला कर दिया.

मामला इस क़दर बढ़ा कि लोकसभा के वॉच एंड वॉर्ड कर्मियों को बीच बचाव करना पड़ा.

तुरंत ही संसद के डॉक्टर सदन में आए. कुछ सासंदों को अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा है.

कार्रवाई

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने इस पूरे घटनाक्रम पर अफ़सोस ज़ाहिर किया है और कहा है कि इसकी वजह से सारी दुनिया की नज़रों में भारतीय लोकतंत्र 'शर्मसार' हुआ है.

लोकसभा अध्यक्ष ने नियम 374 के तहत आंध्र प्रदेश के 17 सांसदों को निलंबित कर दिया है.

इमेज कॉपीरइट AP

पीटीआई के मुताबिक टीडीपी सांसद वेणुगोपल रेड्डी ने लोकसभा में महासचिव की मेज़ पर लगा माइक तोड़ दिया.

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि तेलंगाना विधेयक सदन में पेश किया गया था और अब ये सदन की संपत्ति है. सदन में झड़पों के मुद्दे पर उन्होंने कार्रवाई करने की बात कही.

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY
Image caption संसद के बाहर पृथक तेलंगाना की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने तितर-बितर कर दिया.

संसदीय कार्यों के राज्य मंत्री कमल नाथ ने कहा है कि सरकार, गृह मंत्रालय और पुलिस लोकसभा अध्यक्ष के निर्देशों के मुताबिक़ कार्रवाई करेंगे.

आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस के तीन सासंदों, नेल्लौर से अदला प्रभाकर रेड्डी और श्रीधर कृष्ण रेड्डी और पूर्व गोदावरी से बी सत्यानंदा राव, ने राज्य के बंटवारे के विरोध में इस्तीफ़ा दे दिया. इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस ने सीमांधरा के छह लोकसभा सांसदों को पार्टी से निष्कासित कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार