वाजपेयी की भतीजी कांग्रेस में शामिल

अटल बिहारी वाजपेयी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अटल बिहारी वाजपेयी वर्ष 1996 से 2004 के बीच तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे हैं.

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला कांग्रेस में शामिल हो गईं. गुरुवार को उन्होंने कांग्रेस पार्टी मुख्यालय में पार्टी में शामिल होने की घोषणा की.

करुणा शुक्ला ने भारतीय जनता पार्टी पर जम कर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि भाजपा के 'अटल युग' का समापन हो चुका है. उन्होंने नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिसने अपना पति धर्म नहीं निभाया हो, वह राष्ट्र धर्म क्या निभाएगा.

करुणा शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस मेरा घर है. उन्होंने कहा कि कोई कितनी भी हवा बहा ले, मौसम बदलते देर नहीं लगती. करुणा शुक्ला ने कहा कि 2004, 2009 में जो कुछ हुआ, वही 2014 में भी दोहराया जाएगा.

करुणा शुक्ला भाजपा की विधायक और सांसद रह चुकी हैं. इसके अलावा वे भाजपा की महिला इकाई की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं.

कभी भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहीं करुणा शुक्ला ने पिछले साल पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

पार्टी में अनदेखी

इस्तीफा देने के बाद करुणा शुक्ला ने पार्टी में हुई अवहेलना को इसका कारण बताया था और कहा था कि छत्तीसगढ़ में भाजपा दो-तीन सत्ताधारी नेताओं की जागीर बन कर रह गई है जिनमें राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह प्रमुख हैं.

पार्टी में वापस आने की संभावनाओं को नकारते हुए करुणा शुक्ला ने कहा था कि वे मर जाएंगी, लेकिन भाजपा में नहीं लौटेंगी.

अटल बिहारी वाजपेयी तीन बार प्रधानमंत्री का पद संभाल चुके हैं.

अटल बिहारी पहली वर्ष 1996 में मात्र 13 दिनों के लिए प्रधानमंत्री बने थे. उसके बाद वो वर्ष 1998 से 1999 के बीच 13 महीनों के लिए प्रधानमंत्री बने थे. साल 1999 में वो तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और अपना कार्यकाल पूरा करते हुए साल 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे थे.

वाजेपयी फ़िलहाल सेहत ठीक न होने के कारण सक्रिय राजनीति से दूर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार