राहुल को नहीं भाया मोदी को 'नपुंसक' कहा जाना

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption राहुल प्रवक्ताओं से कह चुके हैं कि वे भाषा पर संयम रखें

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने नरेंद्र मोदी को 'नपुंसक' बताने वाले विदेश मंत्री सलमान ख़ुर्शीद के बयान की आलोचना की है.

भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के बारे में ख़ुर्शीद की उस टिप्पणी के बारे में गुरुवार को जब राहुल गाँधी से पूछा गया तो उन्होंने कहा, "मोदी के विरुद्ध सलमान ख़ुर्शीद के बयान की भाषा मुझे ठीक नहीं लगी."

राहुल इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ताओं को कह चुके हैं कि उन्हें विरोधी राजनेताओं के बारे में टिप्पणी करते समय भाषा पर संयम रखना चाहिए.

वैसे ख़ुर्शीद ने बयान देने के बाद उसे सही भी ठहराया था.

ख़़ुर्शीद ने फर्रुख़ाबाद में एक जनसभा में पहले कहा, "हमारा आरोप ये नहीं है कि तुमने लोगों को मरवाया है, हमारा आरोप है कि तुम नपुंसक हो...तुम मारने वालों को रोक नहीं पाए...चलो कभी दंगा फसाद हो जाता है, आदमी नहीं रोक पाता है, बात समझ में आती है...तो कहो कि हम असहाय थे, हम नहीं रोक पाए....बस इतना ही कह दो."

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ख़ुर्शीद ने बयान देने के बाद उसे सही भी ठहराया था

इसके बाद मीडिया में विवाद होने पर ख़ुर्शीद ने पत्रकारों से कहा कि हिन्दी में राजनीतिक भाषा में नपुंसक का प्रयोग ऐसे आदमी के लिए होता है जो वो काम करने में असमर्थ या अक्षम रहा जिसे करने की उससे उम्मीद की जाती है.

ख़ुर्शीद ने कहा, "मोदी ख़ुद इसका निर्णय करें कि जो हुआ वो उनकी मर्जी से हुआ या वो उसे रोकने में विफल रहे. अगर सक्षम नहीं थे तो राजनीतिक हस्तक्षेप करने के मामले में नपुंसक रहे."

भारतीय जनता पार्टी ने खुर्शीद के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि 'वह भारत की तहज़ीब, मर्यादा और संस्कृति को भूल गए हैं'.

ख़ुर्शीद ने कहा था, "तुम भारत के प्रधानमंत्री बनना चाहते हो और गोधरा नहीं रोक पाए. कोई आया और मारकर चला गया, तुम रोक नहीं पाए...तुम इतने मजबूत आदमी हो. नहीं रोक पाए समझ आता है लेकिन उसके बाद दंगे-फसाद होते रहे दस दिन... तुम उनको भी नहीं रोक पाए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार