मोदी, मुलायम, केजरीवाल: यूपी में बयानों के बाण

  • 2 मार्च 2014
केजरीवाल मोदी मुलायम

उत्तर प्रदेश में रविवार राजनीतिक रैलियों के नाम रहा. इलाहाबाद में समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव ने एक रैली को संबोधित किया तो लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने रैली की. आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने कानपुर में की जनसभा.

इलाहाबाद में मुलायम सिंह यादव ने नरेंद्र मोदी के विकास मॉडल पर निशाना साधते हुए कहा कि गुजरात में बच्चे और महिलाएं कुपोषण से पीड़ित हैं.

मुलायम ने कहा, "गुजरात में महिलाओं, बच्चों और नदियों की हालात ख़राब है. ये ख़राब हैं मतलब गुजरात ख़राब है."

मुलायम सिंह यादव ने कहा, "मैं दंगों के बाद गुजरात गया था और मैंने आजादी के बाद इतना अत्याचार कहीं नहीं देखा जितना गुजरात में हुआ."

मुलायम ने मोदी पर गुजरात में सिखों के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए कहा, "मोदी ने कच्छ के सिखों की जमीनें छीन लीं"

मुलायम ने मोदी पर झूठे प्रचार का आरोप लगाते हुए कहा, "मोदी पूरे देश में झूठ बोल लें लेकिन यूपी में झूठ नहीं चलेगा."

लखनऊ में मोदी

लखनऊ पहुँचे नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में इस बार समाजवादी पार्टी पर सबसे ज़्यादा निशाना साधा. उन्होंने कहा, "नेताजी ज़रा गुजरात जाकर देखकर आइए 24 घंटे 365 दिन बिजली मिलती है. आपके यहाँ तो बिजली में भी आरक्षण है. नेताजी के इलाक़े में बिजली मिलेगी लेकिन जनता को बिजली नहीं मिलेगी."

दंगों पर टिप्पणी करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा, "आपने एक साल में डेढ़ सौ दंगे करवाए हैं, गुजरात में पिछले दस साल में दंगे नहीं हुए हैं और न ही कर्फ्यू लगा है. शर्म से माथा झुक जाता है. आपके नेताओं की गुंडागर्दी के कारण देश भर में होने वाले गंभीर अपराधों में 45 फ़ीसदी अपराध नेताजी की नाक के नीचे होते हैं."

सैफ़ई महोत्सव पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, "ये नाच के नज़ारे और रिलीफ़ कैंपों में बच्चों की मौत, लोहिया की आत्मा की कितना दुख देती होगी."

मोदी ने कहा, "विकास का एक पैमाना होता है प्रति व्यक्ति आय. यूपी की प्रति व्यक्ति आय सिर्फ़ 26 हज़ार रुपए है जबकि गुजरात की प्रति व्यक्ति आय 75 हज़ार रुपए है. यूपी गुजरात से दस हज़ार गुना बड़ा है. यूपी में सिर्फ़ दस हज़ार गाँवों में बिजली है जबकि गुजरात में हर गाँव में बिजली है. "

मुलायम पर गुजरात से मदद माँगने का आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा, "नेताजी आपने गुजरात से शेर मांगे थे, बब्बर शेर. मैंने कहा दे दो भाई. इतना ही नहीं आपने मुझसे अमूल भी मांगा था. अगर आपको गुजरात का विकास नहीं दिखता तो अमूल की ज़रूरत क्यों पड़ी?"

केजरीवाल कानपुर में

उत्तर प्रदेश के मंत्री आज़म खाँ पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, "यूपी में किसान का नौजवान बेटा खो जाए ख़बर नहीं बनती लेकिन एक मंत्री की भैंस खो गई तो ख़बर बन गई. मैं सोच रहा था कि अपनी भैंस खो जाने पर वे कहेंगे कि सेक्यूलरिज़्म पर ख़तरा है."

वहीं रोड शो करते हुए कानपुर पहुँचे अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोग कहते हैं कि मोदी की हवा है, मुझे वह हवा कहीं नहीं दिखी.

अरविंद केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, "पैसे दे देकर ओपिनियन पोल कराए जा रहे हैं. हवा सिर्फ़ टीवी चैनलों में हैं और कहीं नहीं हैं. हवा ज़रूर है, लेकिन मोदी की हवा नहीं हैं, गुस्से की हवा है. बदलाव की हवा है. लोग बदलाव चाहते हैं."

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ना चाहिए. पार्टी नेता मनीष सिसोदिया ने भी संजय सिंह के प्रस्ताव का समर्थन किया.

केजरीवाल ने उद्योगपति कहा, "मैंने दिल्ली में मुकेश अंबानी के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज़ की और जाँच एजेंसी से यह भी कहा कि यदि उन पर देशद्रोह का मामला बनता है तो वो भी बनाओ. लेकिन एफ़आईआर दर्ज़ करते ही बीजेपी और कांग्रेस दोनों चिल्लाने लगे कि ये एफ़आईआर असंवैधानिक है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार