रामकृपाल के लिए सीट छोड़ने को तैयार मीसा

पाटलिपुत्र से आरजेडी का टिकट पाने वाली और आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की बेटी मीसा भारती का कहना है कि यदि पार्टी के वरिष्ठ नेता रामकृपाल यादव की नाराज़गी उन्हें टिकट देने की वजह से है तो वो वहां से चुनाव लड़ने का दावा छोड़ने को तैयार हैं.

बीबीसी के साथ ख़ास बातचीत में मीसा भारती ने कहा कि इसके लिए वो आरजेडी प्रमुख और अपने पिता लालू यादव के ख़िलाफ़ भी जा सकती हैं.

रामकृपाल यादव लालू प्रसाद के काफी विश्वस्त माने जाते हैं. ख़बर ये भी थी कि रामकृपाल भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में हैं और वो किसी भी समय पार्टी में शामिल हो सकते हैं.

राष्ट्रीय जनता दल का टिकट न मिलने की वजह से नाराज़ रामकृपाल को मनाने मीसा दिल्ली स्थित उनके आवास पर गई थीं.

मीसा ने बताया कि रामकृपाल अपने आवास पर कुछ मीडिया वालों को साक्षात्कार दे रहे थे लेकिन उसके बाद कहीं चले गए और उनकी मुलाकात नहीं हो पाई.

उन्होंने कहा कि बावजूत इसके वो बिना उनसे मिले नहीं जाएंगी. मीसा का कहना था कि यदि उनकी जगह रामकृपाल पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ते हैं तो उन्हें खुशी होगी और वो उनके लिए प्रचार भी करेंगी.

'प्रचार करने में खुशी होगी'

उन्होंने कहा, "मुझे टिकट देने का फ़ैसला पार्टी का था लेकिन चुनाव लड़ने या न लड़ने का फ़ैसला मेरा होगा. यदि रामकृपाल जी की नाराज़गी की वजह मुझे टिकट दिया जाना है तो मैं यहां से तुरंत अपना नाम वापस ले लूंगी."

ये पूछे जाने पर कि क्या अपने पेशे में सफल न हो पाने के कारण वो राजनीति में आ रही हैं, मीसा ने कहा, "ये बात मुझ पर लागू नहीं होती क्योंकि मैंने एमबीबीएस की डिग्री ली ज़रूर है लेकिन कभी उसे व्यवसाय नहीं बनाया."

उन्हें टिकट दिए जाने पर पार्टी में परिवारवाद के आरोपों पर मीसा का कहना था, "ये मेरा दुर्भाग्य भी है और मेरे लिए गर्व की बात भी है कि मैं लालू प्रसाद की बेटी हूं. कोई भी व्यक्ति विरासत तो अपने बच्चों को ही सौंपता है. लालू जी अभी चुनाव लड़ नहीं पा रहे हैं इसलिए यदि मुझे जगह दी जा रही है तो इसमें बुराई क्या है?"

आगामी लोकसभा चुनाव के लिए लालू ने अपनी बडी बेटी मीसा भारती को पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से उम्मीदवार घोषित किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार