वायुसेना का परिवहन विमान दुर्घटनाग्रस्त

हरक्युलिस सी-130जे विमान इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption हरक्युलिस सी-130जे विमान. ऐसा ही एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ है.

भारतीय वायुसेना का हरक्युलिस सी-130जे परिवहन विमान मध्य प्रदेश-राजस्थान सीमा पर के ग्वालियर के पास शुक्रवार दोपहर दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

इस विमान में सवार सभी पाँच लोगों की मौत हो गई है. विजयपुर के एसडीएम मनोज कुमार माथुर ने सभी की मौत की पुष्टि की है. उनका कहना है, “चंबल नदी में मलबा फैला हुआ है. इसकी वजह से राहत कार्य में दिक्क़त जा रही है. वही नदी के अंदर मगरमच्छ भी बड़ी तादाद में मौजूद है.”

एयर फोर्स ने घटना की पुष्टि कर दी है और कोर्ट आफ इंक्वरी के आदेश दे दिये है. हादसा ग्वालियर के वायुसेना हवाई अड्डे से 72 किलोमीटर पश्चिम में चंबल के इलाक़े महाराजपुर में हुआ.

अमरीका में बना वायु सेना का हरक्युलिस सी-130 जे विमान जब दुर्घटनाग्रस्त हुआ तो वह दैनिक प्रशिक्षण उड़ान पर था और उसने सुबह दस बजे आगरा से उड़ान भरी थी.

अधिकारी ने बताया कि हादसा ग्वालियर एयरबेस से क़रीब 115 किलोमीटर दूर हुआ.

परिवहन विमान

भारतीय वायुसेना के इस विमान का उपयोग सामान ढोने के लिए किया जाता है. भोपाल के स्थानीय संवाददाता एस नियाज़ी के मुताबिक़ प्रदेश के श्योपुर ज़िला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूर रघुनाथपुर थाना क्षेत्र में ये विमान गिरा है.

इसके क़रीब ही राजस्थान का करौली ज़िला भी पड़ता है. प्रारंभिक सूचना के मुताबिक़ सुबह के समय ग्रामीणों ने एक बड़ा विमान गिरते देखा जिसमें आग लग गई.

ग्रामीणों का दावा है कि ये इतना बड़ा था कि इसमें कम से कम सौ लोग बैठ सकते हैं. बाद में इसके परिवहन विमान होने की सूचना मिली है.

ज़िले के कलेक्टर और एसपी घटनास्थल की तरफ रवाना हो चुके हैं.

भारत ने अमरीका से 6000 करोड़ रुपए में छह हरक्युलिस सी-130 जे विमान हासिल किए थे. यह विमान 20 टन तक सामान ढो सकता है और यह छोटी पट्टी पर उतरने और उड़ान भरने में सक्षम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार