माओवादियों के केजरीवाल से 10 सवाल

माओवादी इमेज कॉपीरइट GAURAV
Image caption (भारत की कम्युनिस्ट पार्टी(माओवादी) ने जनता से आम चुनाव का बहिष्कार करने की अपील की है.)

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल से दस सवाल पूछे हैं. माओवादियों की ओडिशा राज्य कमेटी के प्रवक्ता ने आम चुनावों के बहिष्कार की अपील भी की है.

अरविंद केजरीवाल को आम आदमी पार्टी के मुखिया के रूप में संबोधित करते हुए माओवादियों ने उनसे विदेशी कंपनियों, विदेशी निवेश, उत्तर-पूर्व, कश्मीर, सैन्यकरण और ऑपरेशन ग्रीन हंट से जुड़े सवाल पूछे हैं.

जजों और जेल अधिकारियों को माओवादियों की चेतावनी

आम आदमी पार्टी से संपर्क करने पर पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने अभी ये सवाल नहीं देखे हैं.

विदेशी कंपनियों के बारे में माओवादियों ने केजरीवाल से सवाल किया है, "पहले देश में 60 विदेशी कंपनियां थीं, अभी 4000 से ज़्यादा हैं. कांग्रेस हो या भाजपा विदेशी कंपनियों के सामने लाल कालीन बिछाती आई हैं, तो आप क्या करोगे?"

भ्रष्टाचार पर ठोस प्रोग्राम

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption माओवादियों ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में केजरीवाल के वादों को छलावा बताया है.

भ्रष्टाचार के मुद्दे पर माओवादियों ने कहा है, "भ्रष्टाचार फैलाने वाले कॉरपोरेट घरानों पर आप कैसे लगाम कसोगे, क्या छिछला लोकपाल क़ानून काफ़ी है?...भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आपका ठोस कार्यक्रम क्या है?"

खेत जोतने वालों किसानों को ज़मीन देने पर भी माओवादियों ने पूछा है कि क्या वह जोतदारों को ज़मीन देने के पक्ष में हैं?

माओवादियों ने बदली रणनीति, अब 'मोबाइल' युद्ध

माओवादियों ने भारत के बढ़ते सैन्य ख़र्च पर भी सवाल उठाया है.

माओवादियों ने आदिवासी इलाक़ों में सेना भेजने के बारे में केजरीवाल से अपनी नीति स्पष्ट करने को कहा है.

माओवादियों ने ऑपरेशन ग्रीनहंट के दौरान महिलाओं के साथ दुष्कर्म होने, झूठी मुठभेड़ करने सहित कई गाँवों को तबाह करने का आरोप लगाते हुए केजरीवाल से पूछा है कि क्या वह इसके लिए दोषी लोगों को जाँच करवाकर सज़ा देंगे?

माओवादियों ने एक अन्य प्रेस रिलीज़ में भारत के सभी बड़े दलों पर सवाल खड़ा करते हुए अरविंद केजरीवाल के बारे में टिप्पणी की है. उन्होंने कहा है, "अरविंद केजरीवाल जो वादे कर रहे हैं, वो एक छलावा हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार