नक़वी के घर पर साबिर अली की पत्नी का धरना

साबिर अली, राज्य सभा सदस्य इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता लेने के अगले दिन ही पार्टी से बाहर किए गए जनता दल यूनाइटेड के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद साबिर अली की पत्नी यास्मीन भाजपा नेता मुख़्तार अब्बास नक़वी के घर के बाहर धरना देने पहुंचीं.

हालांकि दिल्ली पुलिस ने उनसे कहीं और जाकर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए कहा है.

धरना देने पहुंची यास्मीन ने कहा, "मैं चाहती हूं कि नकवी माफी मांगे. जब तक वो माफी नहीं मांगते हैं, मैं उनके घर के बाहर बैठी रहूंगी."

इससे पहले यास्मीन ने रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा था कि या तो मुख़्तार अब्बास नकवी उनके पति पर लगाए गए आरोपों पर सबूत दें या फिर माफ़ी मांगे. वरना वो नक़वी के घर के बाहर धरना देंगी.

मानहानि का आरोप

दरअसल जदयू के पूर्व नेता और राज्य सभा सदस्य साबिर अली बीते सप्ताह शुक्रवार को भाजपा में शामिल हुए थे.

मुख़्तार अब्बास नक़वी ने उनके पार्टी में आने का विरोध करते हुए ट्वीट किया था, "आतंकवादी भटकल के दोस्त भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुके हैं...जल्द ही दाऊद को भी पार्टी में जगह मिलेगी."

हालाँकि उन्होंने बाद ये ट्वीट अपने ट्विटर पन्ने पर से हटा दिया.

पढ़ें: साबिर अली तो बहाना हैं, कहीं और निशाना है

भाजपा ने इसके अलगे दिन यानी शनिवार को साबिर अली की सदस्यता को खत्म करने का फैसला किया.

साबिर अली ने इस मामले में मुख़्तार अब्बास नक़वी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी दी है.

साबिर अली ने कहा है कि उन पर जो भी आरोप लगाए गए हैं वो निराधार हैं और ऐसा राजनीतिक लाभ के लिए किया गया है.

साबिर अली ने कहा कि एक सांसद होने के नाते ये ज़रूरी है कि उन पर जो भी आरोप लगाए गए हैं वो उनका पुरज़ोर खंडन करें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार