अमेठी पर मेनका की बेटे वरुण को सलाह

वरुण गांधी इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की नेता मेनका गांधी ने अपने बेटे वरुण गांधी को सलाह दी है कि उन्हें ऐसी किसी चीज़ पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए जिसे उन्होंने ख़ुद अपनी आंखों से न देखा हो.

वरुण गांधी ने अपने चचेरे भाई राहुल गांधी की लोकसभा अमेठी में उनके कामों की तारीफ़ की थी.

मेनका ने कहा, "मैं खुद अमेठी गई थी और मैंने देखा कि वहां कोई विकास नहीं हुआ है. किसी को भी ऐसी चीज़ पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए जो आपने अपनी आंखों से ख़ुद न देखी हो. कुछ लोगों ने उसे बता दिया होगा कि अमेठी में अच्छा काम किया गया है."

राहुल की तारीफ़ करने के बाद, सुल्तानपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी वरुण गांधी ने बुधवार को स्पष्टीकरण देते हुए कहा था कि उनके बयान को किसी राजनीतिक दल या उम्मीदवार की तारीफ़ के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए.

(बढ़ सकती हैं वरुण गाँधी की मुश्किलें)

'कोई विकास नहीं हुआ'

शिक्षकों के एक समूह को संबोधित करते हुए वरुण ने कहा था कि राहुल गांधी अपने स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से महिलाओं की स्थिति सुधारने के लिए बढ़िया काम कर रहे हैं और वह भी अपने संसदीय क्षेत्र में इसी तरह का काम करना चाहेंगे.

(अदालत से कैसे बरी हुए वरुण गाँधी?)

मेनका गांधी ने मीडिया से कहा, "मैंने वरुण को कहा कि उन्हें ऐसी किसी बात पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए जो उन्होंने खुद नहीं देखी है. वरुण ने जो कहा था वह ग़लत था."

(राहुल को अमेठी में दिखाए गए काले झंडे)

राहुल गांधी ने वरुण गांधी की टिप्पणी का स्वागत करते हुए कहा था कि वह अमेठी में ज़मीनी स्तर पर काम कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार