पश्चिम बंगाल का अपमान मंज़ूर नहीं: ममता

  • 8 अप्रैल 2014
ममता बनर्जी Image copyright AFP

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि वो संविधान का सम्मान करती हैं लेकिन अपने राज्य का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगी.

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार चुनाव आयोग के चुनाव ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों के स्थानांतरण के आदेश को लेकर आमने-सामने है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक ममता बनर्जी ने कहा, “मैं जानती हूं कि संविधान क्या है. मैं संविधान का सम्मान करती हूं. लेकिन किसी को ये अधिकार नहीं है कि वो बंगाल का अपमान करे. मैं आपका सम्मान करती हूं इसका मतलब ये नहीं कि मैंने आपको अपने अपमान का अधिकार दे दिया.”

ममता पुरुलिया में एक जनसभा को संबोधित कर रही थीं.

उन्होंने कहा, “मैं जब तक जीऊंगी सिर ऊंचा कर के जीऊंगी. दिल्ली की धमकियों से नहीं डरती.”

सरकार के विकल्प भी खारिज

एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आठ अधिकारियों को चुनावी ड्यूटी से हटाए जाने के आयोग के आदेश को न मानने की धमकी दी थी.

ममता ने खोला चुनाव आयोग के ख़िलाफ़ मोर्चा

बीबीसी संवाददाता अमिताभ भट्टासाली का कहना है कि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल सरकार से बुधवार सुबह 11 बजे तक इन अधिकारियों को हटाने को कहा है. चुनाव आयोग ने सरकार के दिए विकल्प को भी खारिज कर दिया है.

सोमवार को ही चुनाव आयोग ने शिकायत मिलने के बाद पांच पुलिस अधीक्षक, एक ज़िला जज और दो अतिरिक्त ज़िलाधिकारियों को हटाए जाने का निर्देश दिया था.

आयोग ने स्थानांतरण आदेश के साथ ही इन खाली जगहों पर तैनात होने वाले अधिकारियों के नाम भी तय कर दिए गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार