91 सीटों पर 1418 उम्मीदवारों की क़िस्मत का फ़ैसला

इमेज कॉपीरइट Reuters

पहले दो चरण के मतदान के बाद तीसरे चरण के लिए 11 राज्यों और तीन केंद्र शासित प्रदेशों की 91 लोकसभा सीटों के लिए गुरुवार को मत डाले जा रहे हैं.

इसमें राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सभी सात सीटों के अलावा हरियाणा, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और ओडिशा की 10, मध्यप्रदेश की नौ, बिहार की छह, झारखंड की चार और केरल के सभी 20 सीटों के लिए मत डाले जा रहे हैं.

इसके अलावा छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, चंडीगढ़, अंडमान व निकोबार एवं लक्षद्वीप की एक-एक सीट के लिए भी मतदान हो रहा है.

दिल्ली: आठ हज़ार बेघर करेंगे मतदान

इन 91 सीटों पर क़रीब 11 करोड़ मतदाता कुल 1418 उम्मीदवारों की क़िस्मत का फ़ैसला करेंगे.

हालांकि पूरे देश की नज़रें दिल्ली की सभी सात सीटों के चुनाव पर टिकी होंगी. दिल्ली की सात सीटों के लिए क़रीब 1.27 करोड़ मतदाता कुल 150 उम्मीदवारों की जीत-हार का फ़ैसला करेंगे.

नामचीन उम्मीदवार

दिल्ली में जिन लोगों की क़िस्मत का फ़ैसला होना है उनमें कांग्रेस के केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल और कृष्णा तीरथ, पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन, दिल्ली प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता हर्ष वर्धन, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष जेपी अग्रवाल, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित जैसे जाने माने चेहरे शामिल हैं.

भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर पार्टी प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी और भोजपुरी गायक मनोज तिवारी भी चुनाव मैदान में हैं जबकि आम आदमी पार्टी की ओर से दिल्ली सरकार की पूर्व मंत्री राखी बिड़लान, और जाने माने टीवी पत्रकार आशुतोष जैसे नाम शामिल हैं.

दिल्ली के अलावा लोगों की नज़रें पश्चिमी उत्तर प्रदेश की 10 सीटों पर भी टिकी होंगी. इसमें दंगा प्रभावित मुज़्ज़फ़रनगर, कैराना, सहारनपुर, मेरठ, बिजनौर, बुलंदशहर, अलीगढ़, बागपत, ग़ाज़ियाबाद, गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) के संसदीय क्षेत्र भी शामिल हैं.

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह भी बागपत से चुनाव मैदान में हैं.

यह ऊंट किस करवट बैठेगा

ग़ाज़ियाबाद से पूर्व सेनाध्यक्ष जेनरल वीके सिंह भी चुनाव मैदान में हैं. इसके अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश से अभिनेत्री जया प्रदा (रालोद के टिकट पर बिजनौर से), नग़मा (कांग्रेस के टिकट पर मेरठ से) और राज बब्बर (कांग्रेस के टिकट पर ग़ाज़ियाबाद) से अपनी क़िस्मत आज़मा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसके अलावा महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र की जनता भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी की क़िस्मत का फ़ैसला भी करेगी.

केरल के तिरूअनंतपुरम सीट से शशि थरूर लगातार दूसरी बार चुनाव जीतने के इरादे से चुनाव मैदान में हैं.

चंडीगढ़ में दो अभिनेत्रियां किरण खेर (बीजेपी) और गुल पनाग (आम आदमी पार्टी) कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय रेल मंत्री पवन कुमार बंसल को मुश्किल चुनौती पेश कर रही हैं.

नौ चरण में मतदान

मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा से केंद्रीय मंत्री कमल नाथ की क़िस्मत का भी फ़ैसला जनता करेगी.

ओडिशा में लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा चुनाव भी हो रहे हैं, जिसमें सत्तारूढ बीजू जनता दल का पलड़ा भारी माना जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

साल 2009 के आम चुनाव के दौरान इन 91 सीटों में से 45 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी जबकि भारतीय जनता पार्टी को महज़ 13 सीटों पर जीत मिली थी. लेकिन इस बार के चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में भारतीय जनता पार्टी की स्थिति बेहतर बताई जा रही है.

16वीं लोकसभा के गठन के लिए देशभर में नौ चरणों में चुनाव कराए जा रहे हैं. सात अप्रैल को शुरू हुए आम चुनाव 12 मई को समाप्त होंगे. 16 मई को वोटों की गिनती की जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार