बिहार के जमुई में धमाका, दो जवानों की मौत

नक्सली हमले में घायल जवान को ले जाते उनके सहकर्मी (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption मतदान से पहले हुआ धमाका

बिहार के जमुई ज़िले में गुरुवार तड़के हुए एक धमाके में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ़) के दो जवानों की मौत हो गई और छह अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए.

घायलों को इलाज के लिए पहले हेलिकॉप्टर से भागलपुर ले जाया गया था और अब उन्हें पटना ले जाया रहा है.

गुरुवार को आम चुनाव के तीसरे चरण में बिहार की जिन छह लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहा है, ये सभी सीटें नक्सल प्रभावित हैं. इनमें जमुई भी शामिल है.

इस बीच आईईडी और विस्फोटक मिलने से जमुई के 19 मतदान केंद्रों पर मतदान स्थगित कर दिया गया है और अब वहां 12 अप्रैल को मतदान होगा.

बीबीसी को जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक जीतेंद्र राणा ने बताया कि यह घटना जमुई ज़िला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर गंगटा के जंगलों में हुई.

संवेदनशील

इसे देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. ज़िले के नक्सली प्रभाव वाले जंगल के इलाक़ों को अति संवेदनशील घोषित किया गया है.

आसामाजिक तत्वों की धरपकड़ के लिए पुलिस ने जमुई शहर के सभी होटलों में रात भर छापेमारी की.

जमुई सीट से लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान भी उम्मीदवार हैं. बिहार में लोजपा का भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन है.

वहीं सत्ताधारी जनता दल यूनाईटेड (जेडीयू) ने इस सीट से बिहार विधानसभा के अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी को मैदान में उतारा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार