कहां चूक गए केजरीवाल?

लोकपाल प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट AP

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने राजधानी दिल्ली में सत्ता में आने से पहले भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए जनलोकपाल का नारा दिया. पर दिल्ली विधानसभा में जनलोकपाल बिल पेश करने की अपनी कोशिशों में विफल होने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

अब पहली बार उन्होंने एक अख़बार को दिए इंटरव्यू में इस्तीफ़े के फ़ैसले पर पछतावा ज़ाहिर किया है.

मगर एक सवाल अब भी बरकरार है कि आम आदमी पार्टी जनलोकपाल के मुद्दे को लोकसभा चुनाव में पुरज़ोर तरीक़े से क्यों नहीं उठा पाई है?

क्या दिल्ली से बाहर निकलने के बाद उनके लिए भ्रष्टाचार का मुद्दा गौण हो गया है?

क्या भ्रष्टाचार ख़त्म करने के लिए लोकपाल की काफी है?

इस बार इसी विषय पर होगा इंडिया बोल कार्यक्रम. इस मुद्दे पर बीबीसी हिंदी ले गया बंगलौर के छात्र-छात्राओं के बीच. सुनेंगे उनकी भी बात.

अगर आप कार्यक्रम में शामिल होना चाहते हैं तो शनिवार भारतीय समय के मुताबिक़ शाम 07:30 बजे मुफ्त फोन करें 1800 11 7000 या 1800 102 7001 पर. आप हमें आप हमें अपने टेलीफ़ोन नंबर bbchindi.indiabol@gmail.com पर भी भेज सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)