गुजरात का विकास मॉडल

चुनाव के इस गर्म माहौल में अक़सर ये आवाज़ सुनने को मिल रही है कि प्रधानमंत्री पद के लिए भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी ने गुजरात का जिस तरह विकास किया, वैसा ही विकास उनके सत्ता में आने के बाद पूरे देश का होगा.

विकास का नारा भाजपा की ओर से चुनाव मैनेज करने वालों ने कुछ यूँ गढ़ा है कि वो इस चुनाव का एक अहम मुद्दा बन गया है.

मगर भाजपा के इन दावों को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी जैसे उनके विरोधी दल सिरे से खारिज करते रहे हैं. उनका कहना है कि विकास का ये 'गुजरात मॉडल' सबको साथ लेकर चलने वाला मॉडल नहीं है.

ऐसे में ख़ुद गुजरात का युवा इस मुद्दे पर क्या सोच रखता है? उनके मुताबिक़ क्या विकास का ये मॉडल वास्तव में पूरे देश पर लागू हो सकता है?

19 अप्रैल में बीबीसी इंडिया बोल में सुनिए अहमदाबाद स्थित गुजरात विद्यापीठ में हुई चर्चा.. इस चर्चा में छात्र गुजरात में विकास के मुद्दे पर काफ़ी बेबाकी से बोले.

बीबीसी हैंगआउट का कार्यक्रम शुक्रवार को रिकार्ड किया गया था, इसलिए इस रिकार्डेड कार्यक्रम में आप इसमें हिस्सा नहीं ले पाएंगे.