और बड़े हमले की धमकियां मिल रही हैं: हामिद मीर

  • 27 अप्रैल 2014
हामिद मीर Image copyright AFP

हाल ही में हमले का शिकार बने पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर का कहना है कि उन्हें देश छोड़ने को कहा जा रहा है और आगे भी हमले की धमकियां मिल रही हैं.

हमले के बाद अस्पताल में भर्ती हामिद मीर ने बीबीसी उर्दू सेवा के साथ टेलीफोन बातचीत में कहा, "कुछ लोग दोस्त बनकर आते हैं और दुश्मनों के संदेश लाते हैं. कहते हैं कि आप यहां से चले जाएं. आप पाकिस्तान से चले जाएं. आप पर दोबारा हमला होगा."

हामिद मीर को हफ़्ते भर उस समय हमले का निशाना बनाया गया, जब वो कराची एयरपोर्ट से कार में बैठकर जियो न्यूज़ के दफ़्तर जा रहे थे. उन्हें कई गोलियां लगीं.

हामिद मीर जियो न्यूज़ के संपादक हैं और उन्होंने अपने ऊपर के लिए पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई का हाथ होने की आशंका जताई थी.

हालांकि पाकिस्तानी सेना ने उनके इस दावे को बेबुनियाद क़रार दिया.

आईएसआई के अंदर आईएसआई

हामिद मीर ने कहा कि उन्हें जो धमकी भरे हैं संदेश आ रहे हैं, वो पाकिस्तानी सैन्य प्रतिष्ठान की ओर से ही हैं. कुछ और भी हैं.

उन्होंने कहा, "ये लोग कहते हैं कि वो मेरे हमदर्द हैं और चाहते हैं कि मेरी ज़िंदगी बच जाए. वहीं कहते हैं कि मुझ पर बड़ा हमला होगा और मैं यहां से चला जाऊं."

हामिद मीर ने कहा कि उन पर हमला करने वाले वो लोग हैं जो पत्रकारों की गतिविधियों पर नजर रखते हैं.

वो कहते हैं, "हमलावरों ने हमले के लिए वह जगह चुनी, जहां सीसीटीवी भी काम नहीं कर रहे थे."

हामिद मीर से जब यह पूछा गया कि क्या वह हमले के लिए आईएसआई को ज़िम्मेदार समझते हैं तो उन्होंने कहा, "इसके लिए आईएसआई के अंदर आईएसआई ज़िम्मेदार है."

जियो पर बैन की मांग

हमले से पहले भी हामिद मीर अपने चैनल और घर वालों से कह चुके थे कि अगर उन पर हमला होता है तो इसके लिए आईएसआई ज़िम्मेदार होगी.

पाकिस्तान को पत्रकारों के लिए सबसे ख़तरनाक देशों में एक माना जाता है.

हामिद मीर अमरीका में 11 सितंबर 2001 की घटना के बाद ओसामा बिन लादेन का साक्षात्कार लेने वाले पहले पत्रकार थे. वह पाकिस्तान के प्रमुख एंकरों में से एक हैं. उन पर तालिबान ने 2012 में हमला किया था, जिसमें वह बच गए थे.

हालिया हमले के बाद जारी बयान में हामिद मीर ने फिर एक बार आईएसआई पर ऊंगली उठाई.

लेकिन आईएसआई ने इसकी निंदा की. वहीं रक्षा मंत्रालय ने कहा कि जियो न्यूज़ आईएसआई का नाम बदनाम कर रहा है, इसलिए उस पर प्रतिबंध लगना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार