नीतीश बनाम मोदी: किसका विकास मॉडल है बेहतर?

नीतीश, मोदी इमेज कॉपीरइट
Image caption नीतीश और मोदी अपने-अपने दावों से मतदाता को रिझाने की कोशिश कर रहे हैं.

बिहार और गुजरात में हुए विकास की मीडिया में चर्चा रही है. दोनों राज्यों में इस विकास को एक मॉडल के रूप में देखा गया है. भाजपा के पुराने गठबंधन सहयोगी रहे जनता दल-यू ने नरेंद्र मोदी के भाजपा में बढ़ते प्रभाव के बाद राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग होने का फ़ैसला किया था.

इस चुनाव के दौरान इन दोनों नेताओं ने एक दूसरे पर अपने तरकश से कई तीर छोड़े हैं.

नीतीश कुमार ने नरेंद्र मोदी के विकास मॉडल की आलोचना की है और कहा है कि गुजरात में पिछड़ों के विकास पर ध्यान नहीं दिया गया.

उधर मोदी ने भी बिहार की स्थिति को चिंताजनक कहते हुए विकास का भरोसा दिलाया है.

ऐसे में बिहार के युवा ख़ुद किस राह को अपने राज्य के लिए बेहतर मानते हैं? गुजरात मॉडल या बिहार मॉडल?

बीबीसी हिंदी ने इसी विषय पर शुक्रवार को मुज़फ़्फ़रपुर के बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर बिहार विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से चर्चा की.

इस शनिवार तीन मई को कार्यक्रम बीबीसी इंडिया बोल में इसी बातचीत के अंश पेश किए जाएंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)