मोदी के मंच पर राम के पोस्टर को लेकर शिकायत

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट
Image caption नरेंद्र मोदी जिस मंच से भाषण दे रहे थे, उस पर भगवान राम का पोस्टर लगा हुआ था

चुनाव के अंतिम दौर के प्रचार में नरेंद्र मोदी एक बार फिर चुनाव आयोग के निशाने पर हैं.

सोमवार को नरेंद्र मोदी ने फैज़ाबाद में भाषण दिया था जिसके दौरान उनके मंच पर भगवान राम का पोस्टर लगा हुआ था.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़, राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी उमेश सिन्हा ने फ़ैज़ाबाद के ज़िलाधिकारी से रिपोर्ट माँगी है कि मोदी ने क्या कहा था और उनके मंच पर बैकग्राउंड में क्या था?

इस मामले में मोदी या भारतीय जनता पार्टी की ओर से कोई प्रतिक्रिया अभी तक नहीं आई है.

इससे पहले वडोदरा में वोटिंग के बाद नरेंद्र मोदी के चुनाव चिन्ह दिखाने पर निर्वाचन आयोग ने कड़ा रुख अपनाया था और एफआईआर दर्ज़ की गई थी.

आचार संहिता के तहत कोई भी उम्मीदावर धर्म के नाम पर वोट नहीं मांग सकता.

कोशिश

इमेज कॉपीरइट AP

कांग्रेस पार्टी ने भी मोदी की आलोचना करते हुए कहा है कि मोदी विकास की बजाय धर्म के नाम पर ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं.

अयोध्या फ़ैज़ाबाद चुनाव क्षेत्र का हिस्सा है और बाबरी मस्जिद-रामजन्मभूमि विवाद के केंद्र में रहा है.

यहां मंच पर भगवान राम के पोस्टरों के साथ मोदी ने ऐलान किया, "मैं भगवान राम की भूमि से ये आश्वासन देता हूँ कि मैं जीवन भर भ्रष्टाचार के ख़िलाफ लड़ता रहूँगा. मैंने ग़रीबी देखी है तभी ये कहने की हिम्मत कर रहा हूँ".

चुनाव के अगले चरण से ठीक पहले मोदी ने भगवान राम का ज़िक्र किया है क्योंकि इससे पहले राम मंदिर का मुद्दे से पार्टी और पार्टी के नेता कतराते रहे हैं.

पार्टी के घोषणापत्र में भी राम मंदिर का मुद्दा आखिरी पन्नों में ही आ पाया था. ऐसे में भगवान राम के पोस्टरों का पार्टी के मंच पर आने के बारे में लोग अलग-अलग कयास लगा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार