मनमोहन सिंह ने अपने कार्यालय को कहा 'अलविदा'

मनमोहन सिंह, भारत के प्रधानमंत्री इमेज कॉपीरइट ap

सोमवार को मतदान समाप्त होने के बाद मतगणना और नई सरकार के गठन का इंतज़ार हो रहा है.

लेकिन भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह चुनाव बाद होने वाली चर्चाओं के बीच प्रधानमंत्री कार्यालय से विदाई ली.

मंगलवार को कार्यालय में अपने आख़िरी दिन प्रधानमंत्री ने सभी कर्मचारियों का शुक्रिया अदा किया.

उन्होंने अपने सहयोगियों से कहा, "आपने देश की अच्छी सेवा की है."

भूमिका

इस कार्यालय से मनमोहन सिंह ने यूपीए-वन और यूपीए-दो के दौरान अनेक महत्वपूर्ण योजनाओं की रूपरेखा तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

इससे पहले मनमोहन सिंह ने विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्षों को पत्र लिखा था.

कुछ दिनों पूर्व प्रधानमंत्री के सलाहकार रहे संजय बारु की किताब 'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' की वजह से मनमोहन सिंह के कार्यकाल को मीडिया की सुर्ख़ियों में ला दिया था.

81 वर्षीय मनमोहन सिंह ने एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहा था कि लगातार तीसरी बार यूपीए की सरकार बनने पर वह प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार