वाईएसआर कांग्रेस के एक सांसद टीडीपी में शामिल

जगन मोहन रेड्डी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जगन मोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस सीमांध्र में दूसरे स्थान पर रही

वाईएसआर कांग्रेस के एक नवनिर्वाचित सांसद एसपीवाई रेड्डी विरोधी पार्टी तेलुगु देशम पार्टी में शामिल हो गए हैं.

नांद्याल से तीन बार सांसद रह चुके रेड्डी हालिया आम चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस के टिकट पर चुने गए जबकि इससे पहले 2009 में वो कांग्रेस के टिकट पर जीते थे.

रेड्डी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, "मैं इसलिए टीडीपी में शामिल हुआ हूं क्योंकि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार होगी जबकि सीमांध्र में टीडीपी की सरकार होगी, ऐसे में अगर मैं टीडीपी के साथ रहूंगा तो अपने चुनाव क्षेत्र की बेहतर सेवा कर पाऊंगा."

नियमों के अनुसार रेड्डी पर दल बदल कानून लागू हो सकता है जिसके तहत उनकी संसद सदस्यता भी छिन सकती है, लेकिन इसके लिए वाईएसआर कांग्रेस को लोकसभा स्पीकर से आवेदन करना होगा.

ख़राब रिश्तों से इनकार

रेड्डी के चले जाने से लोकसभा में वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों की संख्या घटकर आठ रह जाएगी, वहीं रेड्डी को छोड़ दें तो संसद के निचले सदन में टीडीपी के सांसदों की संख्या 16 है.

रविवार को रेड्डी ने सीमांध्र के मनोनीत मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू से मुलाकात की और उनकी पार्टी में शामिल होने की इच्छा जताई.

उन्होंने इस बात से इनकार किया कि वो वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख जगनमोहन रेड्डी से खराब रिश्तों के चलते पार्टी छोड़ रहे हैं.

दूसरी तरफ़ मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि वाईएसआर कांग्रेस के एक और सांसद टीडीपी में जाने की तैयारी में हैं.

सीमांध्र में वाईएसआर कांग्रेस और टीडीपी एक दूसरे की कट्टर प्रतिद्वंद्वी हैं. हालिया चुनावों में टीडीपी और भाजपा गठबंधन ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की, जबकि वाईएसआर कांग्रेस दूसरे स्थान पर रही.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार