अमिताभ और लता नहीं आ रहे मोदी के शपथ ग्रहण में

नरेंद्र मोदी, अमिताभ बच्चन इमेज कॉपीरइट AB Corp Ltd

कई दिनों से मीडिया में नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से संबंधित ख़बरें सुर्खियां बनी हुई हैं.

मोदी के मेहमान कौन-कौन होंगे इस बात के अनुमान लगने कई दिनों पहले शुरू हो चुके थे और जैसे-जैसे 26 मई का दिन क़रीब आता गया टीवी चैनलों और अख़बारों ने मेहमानों की लिस्ट छापनी भी शुरू कर दीं.

(शरीफ़ पहुंचे भारत)

कहा गया कि इस समारोह में बॉलीवुड भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेगा और अमिताभ बच्चन, लता मंगेशकर, सलमान ख़ान और दक्षिण भारतीय सुपरस्टार रजनीकांत भी हिस्सा लेंगे.

बच्चन नहीं ला रहे हैं तशरीफ़

लेकिन बीबीसी को मिली जानकारी के मुताबिक़ अमिताभ बच्चन इस समारोह में तशरीफ़ नहीं ला रहे हैं.

(मोदी को आप कितना जानते हैं)

अमिताभ की पीआर टीम से जब बीबीसी ने बात की तो हमें बताया गया, "अमिताभ का इस समारोह में शामिल होने का कोई कार्यक्रम नहीं है."

हालांकि जब हमने इसकी वजह पूछी तो हमें उनकी पीआर टीम ने कुछ भी साफ नहीं बताया.

अमिताभ की पीआर टीम ने इस बात की पुष्टि भी नहीं की कि अमिताभ को समारोह का आमंत्रण मिला है या नहीं.

(राज-पथ बदला 'मोदी-पथ' में)

बीते कुछ सालों में अमिताभ बच्चन और नरेंद्र मोदी की नज़दीकी काफी बढ़ी है. अमिताभ बच्चन गुजरात टूरिज़्म के ब्रांड एंबेसडर भी हैं. उसके पहले भी दोनों कुछ समारोहों में मिले थे.

अमिताभ बच्चन ने साल 2009 में अपनी फ़िल्म 'पा' का प्रीमियर गुजरात में किया था, तब नरेंद्र मोदी को उसमें आमंत्रित किया था और दोनों बड़ी गर्मजोशी से मिले थे.

लता भी रहेंगी ग़ैर हाज़िर

इसी तरह से गायिका लता मंगेशकर भी मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लेंगी.

लता मंगेशकर के मैनेजर प्रीतम ने बीबीसी को बताया, "लता दीदी को मोदी जी ने समारोह में आमंत्रित तो किया है लेकिन दीदी इसमें शामिल नहीं हो पाएंगी."

उन्होंने भी लता के कार्यक्रम में शामिल होने की कोई वजह नहीं बताई. लता मंगेशकर कई बार सार्वजनिक मंच पर नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद के लिए अपनी पहली पसंद बता चुकी हैं.

सलमान पर सस्पेंस

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption (नरेंद्र मोदी और सलमान ख़ान: फ़ाइल फ़ोटो)

इसी तरह से इस समारोह में सलमान ख़ान के भी शामिल होने की ख़बरें हैं. हालांकि सलमान ख़ान ने अब तक अपने शामिल होने की पुष्टि नहीं की है.

जब हमने इस बारे में सलमान ख़ान और उनकी पीआर टीम से संपर्क साधना चाहा तो हमारी उनसे बात नहीं हो पाई है.

ग़ौरतलब है कि सलमान ख़ान भी नरेंद्र मोदी को एक कुशल प्रशासक बता चुके हैं. और इस साल अपनी फ़िल्म 'जय हो' की रिलीज़ से पहले वो इसके प्रचार के सिलसिले में वो जब अहमदाबाद गए थे तब नरेंद्र मोदी से मिले थे और उनके साथ पतंग भी उड़ाई थी.

हालांकि मुस्लिम समुदाय के कई लोगों और नेताओं ने इस बात के लिए सलमान ख़ान की कड़ी आलोचना भी की थी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉइड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक और ट्विटर पेज से भी जुड़ सकते हैं.)

संबंधित समाचार