नेस ने गाली-गलौज की और हाथ मरोड़ा: प्रीति

  • 14 जून 2014
प्रीति जिंटा Image copyright Getty Images

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति ज़िंटा ने उद्योगपति नेस वाडिया के ख़िलाफ़ छेड़छाड़ का मुक़दमा दर्ज कराया है. यह केस धारा 354 के तहत दर्ज किया गया है.

कानूनी मामलों के जानकर अनूप भटनागर के अनुसार महिला की शील भंग करने के प्रयास में आईपीसी की धारा 354 लगाई जाती है.

अनूप भटनागर का कहना है कि 'शील भंग' की परिभाषा बहुत व्यापक है.

Image caption प्रीति ज़िंटा के ज़रिए कराई गई एफ़आईआर

उनके अनुसार, ''हाथ पकड़ने और मामूली छेड़छाड़ से लेकर गाली गलौज तक को इसमें शामिल किया जा सकता है. ऐसे मामलों में ज़मानत पूरी तरह जज पर निर्भर करती है. दिल्ली गैंगरेप केस के बाद क़ानून में हुए से संशोधन अब इसमें पाँच साल तक की सज़ा का प्रावधान है.''

प्रीति ज़िंटा के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए नेस वाडिया ने कहा है, "मैं शिकायत पर हैरान हूँ और मुझ पर लगाए गए आरोप पूरी तरह निराधार और ग़लत हैं."

'सुरक्षा का ख़्याल'

इस बीच इस मामले में प्रीति ज़िंटा ने एक बयान जारी कर लोगों से उनकी निजता का सम्मान करने की अपील की है. प्रीति ने अपने बयान में कहा है, ''मैं किसी को नुक़सान नहीं पहुंचाना चाहती हूं. केवल अपनी सुरक्षा का ख़्याल रखते हुए मैंने ये क़दम उठाया है.''

मामला मुंबई के मरीन लाइन पुलिस स्टेशन में गुरूवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात को दर्ज कराया गया था.

इस बीच मामले ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है. महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन की एक पार्टी एनसीपी की मुंबई शाखा की महिला विंग की अध्यक्ष चित्रा वागा ने मरीन लाइन पुलिस स्टेशन पहुंच कर पुलिस को इस मामले में जल्द कार्रवाई करने को कहा है.

चित्रा ने बीबीसी संवाददाता मधु पाल को बताया कि नेस वाडिया ने प्रीति ज़िंटा को जान से मारने की धमकी दी है जो कि एक गंभीर मामला है. चित्रा के अनुसार 24 घंटे से भी ज़्यादा हो गया है लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है.

मरीन लाइन पुलिस स्टेशन में मौजूद सब इंस्पेक्टर रोकड़े ने मधु पाल को बताया कि प्रीति गुरूवार रात क़रीब 12 बजे के आस-पास अपने ड्राइवर के साथ पुलिस स्टेशन आईं थीं.

'गाली-गलौज'

प्रीति ज़िंटा की शिकायत के मुताबिक़ यह घटना 30 मई 2014 की है जब मुंबई के वांखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स-11 पंजाब के बीच मैच चल रहा था.

एक और पुलिस अधिकारी विजय माने ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि प्रीति ने शुक्रवार देर रात जो शिकायत दर्ज कराई है उसके अनुसार 30 मई को खेले जा रहे मैच के दौरान नेस वाडिया प्रीति के पास आए, सबके सामने उनसे गाली गलौज की और उनका हाथ पकड़ कर मरोड़ दिया.

नेस वाडिया प्रीति ज़िंटा के साथ आईपीएल की टीम किंग्स-11 पंजाब के सह मालिक हैं. दोनों को एक समय काफ़ी क़रीबी मित्र के रूप में देखा जाता था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार