झारखंड: 'प्रेमी' की हत्या, लड़की के मां-बाप गिरफ़्तार

जामताड़ा पुलिस स्टेशन, झारखंड इमेज कॉपीरइट Neeraj Sinha

झारखंड के जामताड़ा ज़िले में एक नाबालिग़ युवती के कथित प्रेमी को जान से मार डालने के आरोप में लड़की के माता-पिता समेत पांच लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

माता-पिता के अलावा गिरफ़्तार किए गए तीन लोग युवती के भाई बताए गए हैं. पुलिस अधीक्षक नागेंद्र चौधरी ने गिरफ़्तारी की पुष्टि की. उन्होंने बताया है मारे गए युवक, तापस पाल, के चाचा गौतम पाल ने इस मामले में जामताड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. पुलिस अधीक्षक के मुताबिक इस मामले में युवती के पिता सत्यनारायण वर्मा, माता सुनीता देवी और भाई सुजीत वर्मन, सुनील वर्मन, अनिल वर्मन ऊर्फ कन्हैया को गिरफ़्तार किया गया है.

उन्होंने एक अन्य आरोपी को भी जल्द गिरफ़्तार कर लेने का दावा किया है.

मामला

जामताड़ा थाना के प्रभारी अजय कुमार सिंह के मुताबिक़ युवक के शव को पोस्टमार्टम के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया गया है. पुलिस के मुताबिक़ तापस पाल जामताड़ा शहर के तामूलीपाड़ा और युवती महुलडंगाल मोहल्ले के रहने वाले हैं.

इमेज कॉपीरइट Neeraj Sinha

तीन अप्रैल को युवती के माता सुनीता देवी ने एक मामला दर्ज कराकर आरोप लगाया था कि तापस पाल उनकी बेटी को भगा ले गया है.

लेकिन दोनों के पकड़ में आने के बाद ये तथ्य सामने आया कि उनके बीच प्रेम संबंध हैं. पुलिस के मुताबिक युवक ने ये जानकारी भी दी थी कि दोनों ने मंदिर में शादी कर ली है.

युवती का मेडिकल चेकअप कराया गया था जिसमें वो नाबालिग़ पाई गई थी. इसके बाद दोनों को न्यायालय में पेश किया गया जहां से युवती को रिमांड होम और युवक को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था.

इमेज कॉपीरइट Neeraj Sinha
Image caption गंभीर स्थिति में अस्पताल ले जाने के क्रम में तापस पाल की मौत हो गई.

ज़मानत

थाना प्रभारी ने बताया है कि बाद में तापस पाल को ज़मानत मिल गई थी. रविवार की सुबह वो जामताड़ा की बसंत लॉज के पीछे स्थित तालाब में शौच करने गए थे. पुलिस के मुताबिक छानबीन में पता चला है कि इसी दौरान तालाब के निकट पहले से घात लगाए युवती के भाइयों ने उनपर चाकू से जानलेवा हमले कर दिए. गंभीर स्थिति में अस्पताल ले जाने के क्रम में तापस पाल की मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि वो इस नतीजे पर पहुंची है कि हमले करने की साज़िश रचने में युवती के माता-पिता भी शामिल थे. लिहाज़ा उन्हें भी गिरफ़्तार कर लिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार