छपरा रेल हादसे पर किसने क्या कहा?

छपरा रेल हादसा इमेज कॉपीरइट PTI

बिहार के छपरा ज़िले के पास रात दो बजे के क़रीब हादसे का शिकार हुई राजधानी एक्सप्रेस के चार लोग मारे गए हैं और आठ घायल हुए हैं. दुर्घटना के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रेलमंत्री सदानंद गौड़ा समेत कई लोगों ने अपनी-अपनी प्रतिक्रया दी है. कई प्रतिक्रियाओं में दुर्घटना में माओवादियों का हाथ होने की बात भी कही गई है.

राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृहमंत्री

इमेज कॉपीरइट AFP

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस हादसे के लिए माओवादियों को ज़िम्मेदार ठहराना अभी जल्दबाजी होगी. उन्होंने कहा, "मैंनै घटनास्थल पर मौजूद रेलवे अधिकारियों से सीधे बात की है. प्रधानमंत्री को भी सारे मामलों से अवगत करा दिया है. माओवादियों को जिम्मेवार ठहराना अभी जल्दबाजी होगी. हमें धटना पर रिपोर्ट आने का इंतजार करना चाहिए."

राजीव प्रताप रूडी, सांसद सारण

इमेज कॉपीरइट bjp.org

राजीव प्रतात रूडी ने हादसे को भयावह बताया और कहा- मैं माओवादी गतिविधियों का विशेषज्ञ नहीं हूँ लेकिन मौके पर मौजूद सबूत के आधार पर कह सकता हूँ कि इसमें कुछ असामान्य है.

जीतन राम मांझी, मुख्यमंत्री बिहार

इमेज कॉपीरइट Shailendra Kumar

बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने रेल मंत्री सदानंद गौड़ा का ध्यान 2 लाख रुपए की मुआवजे की घोषणा की ओर आकर्षित किया. उनके मुताबिक अमूमन इस तरह के हादसों में मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाता है.

सदानंद गौड़ा, केंद्रीय रेलमंत्री

उन्होंने कहा राजधानी एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की जांच की जा रही है. उन्होंने माओवादी प्रभावित इलाके में राजधानी एक्सप्रेस के आगे-आगे एक पायलट इंजन नहीं चलने पर सवाल उठाया जो कि एक मानक अभ्यास है. उन्होंने कहा, "घटना रेलवे की गलती का नतीजा लगती है."

लालू प्रसाद यादव, पूर्व रेलमंत्री

लालू प्रसाद यादव ने हादसे ले लिए रेल अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा, "मैं रेलमंत्री रहा हूँ और मैं जानता हूँ कि पायलट इंजन राजधानी एक्सप्रेस से 30 मिनट आगे-आगे चलती है. यह ट्रैक को जांचने के लिए होता है कि रास्ता साफ है या नहीं. ऐसा लगता कि ऐसा इस मामले में नहीं किया गया है और जिसकी वजह से हादसा हुआ."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)