बजट सत्र में उठ सकता है महंगाई का मु्द्दा

भारत की संसद इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

सोमवार से शुरू हो रहे मोदी सरकार के पहले बजट सत्र में महंगाई का मुद्दा गरमाने की संभावना है. यह सत्र 14 अगस्त तक चलेगा.

सत्र के दौरान सरकार टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (संशोधन) अध्यादेश 2014 और आंध्र प्रदेश पुनर्गठन (संशोधन) अध्यादेश 2014 के अंतर्गत पोलावरम प्रोजेक्ट को लेकर विधेयक लाने की तैयारी में है.

ट्राई (संशोधन) अध्यादेश 28 मई को पास कर दिया गया था ताकि प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव के पद पर नृपेंद्र मिश्रा को नियुक्त किया जा सके.

शनिवार को स्पीकर सुमित्रा महाजन द्वारा बुलाई गई बजट पूर्व सर्वदलीय बैठक में विपक्षी सदस्यों ने महंगाई पर दोनों सदनों में चर्चा की मांग की.

कैसे तैयार होता है आम बजट

इसके अलावा रेल किराए में वृद्धि और तमिल मछुआरों के पलायन पर बहस की मांग की गई थी.

इमेज कॉपीरइट Think Stock

बैठक के बाद संसदीय कार्यमंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि सरकार की ओर से सुषमा स्वराज, इराक़ में भारतीयों की स्थिति को लेकर दोनों सदनों में वक्तव्य देंगी.

'तौर तरीक़ों' में सुधार को तैयार नहीं सासंद

स्पीकर सुमित्रा महाजन ने बताया कि इस सत्र में 28 बैठकें होंगी और संसद 168 घंटे काम करेगी.

चूंकि, कई मंत्रालयों की समितियां अभी गठित होनी हैं, इसलिए उनके अनुदानों पर 31 जुलाई तक संसद में ही विचार होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार