कई मामलों में अभियुक्त बने भाजपा अध्यक्ष

इमेज कॉपीरइट PTI

सोहराबुद्दीन फ़र्ज़ी मुठभेड़ मामला, इशरत जहां केस और एक महिला आर्किटेक्ट की जासूसी. जानिए भारतीय जनता पार्टी के नए अध्यक्ष अमित शाह किन मामलों में फँसे. वैसे अमित शाह इन सभी आरोपों से इनकार करते रहे हैं.

अमित शाह ने संभाली भाजपा की कमान

सोहराबुद्दीन फ़र्ज़ी मुठभेड़ केस

गुजरात पुलिस ने 2005 में एक फ़र्ज़ी मुठभेड़ में सोहराबुद्दीन और उनकी पत्नी क़ौसर बी की हत्या कर दी थी. एक साल बाद गुजरात पुलिस ने सोहराबुद्दीन के साथी तुलसीराम प्रजापति की भी कथित एनकाउंटर में हत्या कर दी. इस मामले में गुजरात के कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारी 2007 से जेल में क़ैद हैं. 2010 में सीबीआई ने चार्जशीट में अमित शाह पर आरोप लगाया कि वह गैंगस्टर सोहराबुद्दीन शेख के साथ एक फ़िरौती रैकेट में शामिल थे.

ऐसी-वैसी चाय नहीं पीते अमित शाह!

सीबीआई ने इन मामलों में अमित शाह के शामिल होने की बात कही है और उन्हें क़त्ल के तीन मामलों में अभियुक्त बनाया है. गुजरात के गृहमंत्री रहने के दौरान इसी मामले में शाह को सीबीआई ने 2010 में गिरफ़्तार किया था. वह सुप्रीम कोर्ट से ज़मानत लेकर रिहा हुए हैं. ज़मानत मिलने के बावजूद उन्हें राज्य से तड़ीपार कर दिया गया और लंबे समय तक उन्हें गुजरात में घुसने की अनुमति नहीं थी.

इशरत जहाँ मामला

अमित शाहः मोदी मैनेजमेंट के सबसे बड़े गुरु

2004 में एक फ़र्ज़ी मुठभेड़ में गुजरात पुलिस ने कॉलेज छात्रा इशरत जहाँ और तीन अन्य लोगों की हत्या कर दी थी. अमित शाह पर इस मामले में भी कई आरोप लगे हैं. गुजरात पुलिस के कुछ निचले स्तर के अधिकारियों ने सीबीआई जांच के दौरान बताया कि अमित शाह को इस फ़र्ज़ी मुठभेड़ के बारे में पता था और इसके लिए उनकी अनुमति भी ली गई थी. हलांकि कुछ महीने पहले ही सीबीआई ने कहा था कि उसके पास इस केस में अमित शाह को अभियुक्त बनाने के लिए पुख़्ता सबूत नहीं हैं. इस मामले में कोर्ट ट्रायल अभी शुरू होना बाक़ी है.

जासूसी कांड

अमित शाह पर साल 2009 में एक महिला आर्किटेक्ट की गुजरात पुलिस से कथित रूप से अवैध जासूसी करवाने के भी आरोप लगे हैं. एक इंटरनेट पोर्टल ने इस मामले में कुछ ऑडियो टेप जारी कर अमित शाह पर गुजरात के आईपीएस अफ़सर जीएल सिंघल को महिला की जासूसी करने के आदेश देने के आरोप लगाए थे. इस मामले में गुजरात सरकार ने पिछले साल एक जाँच आयोग गठित किया था जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है.

संबंधित समाचार