तृणमूल का समर्थन, ट्राई संशोधन बिल लोकसभा में पारित

इमेज कॉपीरइट AP

लोकसभा में सोमवार को टेलीकॉम नियामक प्राधिकरण यानी ट्राई संशोधन विधेयक पारित कर दिया गया.

पूर्व नौकरशाह नृपेन्द्र मिश्र को प्रधानमंत्री का प्रधान सचिव नियुक्त किए जाने की कानूनी बाधाओं को हटाने वाला ये विधेयक लोकसभा में भारी हंगामे के बीच सोमवार को पास हो गया.

कांग्रेस सदस्यों ने इस विधेयक को लेकर वॉकआउट किया, वहीं तृणमूल, बीएसपी और एनसीपी ने बिल का समर्थन किया. हालांकि विधेयक का शुरू से ही विरोध करने वालों में तृणमूल कांग्रेस सबसे आगे थी.

बीएसपी, एसपी, एडीएमके के साथ ही टीएमसी के अचानक समर्थन के फ़ैसले से इस मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी अलग-थलग पड़ गई है.

वैसे कांग्रेस का विरोध भले ही लोकसभा में ज्यादा असरदार साबित नहीं हुआ, लेकिन राज्यसभा में उसका पलड़ा बीजेपी से भारी है.

हालांकि राज्यसभा में भी ट्राई संशोधित विधेयक के पास होने का रास्ता साफ हो सकता है. बीएसपी और समाजवादी पार्टी ने विधेयक का विरोध न करने का फ़ैसला किया है.

राज्यसभा में कुल सदस्यों की संख्या 245 है. राज्यसभी में यूपीए के सदस्यों की संख्या एनडीए से अधिक है और विधेयक का पारित होना अन्य दलों पर निर्भर करेगा.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार