हाफ़िज़ सईद से मदद लेने को तैयार गिलानी

  • 16 जुलाई 2014

ऑल पार्टी हुर्रियत कांफ़्रेंस (गिलानी गुट) के नेता सैयद अली शाह गिलानी ने कहा है कि कश्मीर को आज़ादी दिलाने के लिए वो हर किसी से मदद लेने को तैयार हैं, भले ही उसका नाम हाफ़िज़ सईदक्यों न हो.

बीबीसी हिंदी से ख़ास बातचीत में गिलानी ने कहा, "जो भी जम्मू-कश्मीर मसले के हल की बात करेगा, वहां के अवाम के हक़ की बात करेगा, उसके बारे में यहां की अवाम यह मानती है कि यह हमारे हक़ की बात कर रहा है. भले ही उनका नाम कुछ भी क्यों न हो."

कश्मीर की आज़ादी की लड़ाई में हुर्रियत कांफ्रेंस को हाफ़िज़ सईदसे किस तरह की मदद मिल सकती है.

उसके बारे में गिलानी ने कहा, "ये तो दूसरा मसला है कि वो किस तरह की मदद करेंगे, या फिर वो मदद करने लायक़ हैं भी या नहीं. लेकिन जो भी कश्मीर के मसले की हल की बात करेगा, कश्मीर की जनता को रियायत देने की बात करेगा, कश्मीर की जनता उसे अपने हक़ की बात करने वाला समझती है."

'आज़ादी ही चाहिए'

भारतीय पत्रकार वेद प्रताप वैदिक और जमात उद दावा के मुखियाहाफ़िज़ सईद से मुलाक़ात में वैदिक ने कश्मीर की आज़ादी की बात कह कर भारत में सियासी गर्मी को बढ़ा दिया है.

हालांकि वैदिक ने कहा है कि वे कश्मीर की आज़ादी की बात कर रहे थे, अलग होने की बात नहीं.

सैयद अली शाह गिलानी ने वैदिक के प्रस्ताव पर कहा, "अलहदगी के बिना कश्मीर की आज़ादी की बात संभव ही नहीं है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार