कांग्रेस-नेशनल कॉन्फ्रेंस में तलाक़

उमर अब्दुल्ला और राहुल गांधी

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में आगामी विधानसभा चुनाव अकेले चुनाव लड़ने का फ़ैसला किया है.

इसके साथ ही कांग्रेस का 2009 से नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ चला आ रहा गठबंधन भी ख़त्म हो गया है.

हालांकि, गठबंधन ख़त्म करने के कांग्रेस के फ़ैसले का मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह सरकार पर फ़िलहाल कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि कांग्रेस ने सरकार से समर्थन वापस नहीं लिया है.

कांग्रेस महसाचिव अंबिका सोनी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कांग्रेस पार्टी जम्मू-कश्मीर में सभी 87 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी.

मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने ट्वीट किया है कि वह 10 दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिले थे और समर्थन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया था.

उमर ने आगे लिखा, ''मैंने उन्हें नेशनल कॉन्फ्रेंस के अकेले विधानसभा चुनाव लड़ने के फ़ैसले की जानकारी दे दी थी.''

जम्मू-कश्मीर में सत्तारूढ़ नेशनल कॉन्फ्रेंस सरकार का कार्यकाल छह महीने बाद ख़त्म होने जा रहा है.

राज्य में जनवरी 2015 में विधानसभा चुनाव होने हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)

संबंधित समाचार