कुंबकोणम अग्निकांड: 10 लोगों को सज़ा

  • 30 जुलाई 2014

वर्ष 2004 में तमिलनाडु के कुंबकोणम में स्कूल में लगी आग में 94 बच्चों की मौत हो गई थी.

इस हादसे के लिए तंजावुर की ज़िला और सत्र अदालत ने 10 लोगों को दोषी ठहराते हुए सज़ा सुनाई है.

सरकारी वक़ील मधुसूदनन के मुताबिक स्कूल मालिक को उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई गई. इसके अलावा उन्हें एक अन्य मामले में भी 10 साल की क़ैद की सज़ा सुनाई है.

मामले में दोषी करार दिए गए एक इंजीनियर को दो साल की क़ैद,जबकि आठ अन्य दोषियों को पांच-पांच साल की क़ैद की सज़ा सुनाई गई.

अदालत ने तीन शिक्षकों समेत आठ अन्य लोगों को दोषमुक्त करार दिया.

दर्दनाक हादसा

महत्वपूर्ण है कि 14 जुलाई 2004 को इस दर्दनाक हादसे में 94 बच्चों की जलने से मौत हो गई थी.

हादसा उस दौरान हुआ था जब एक अस्थायी झोपड़ी में बच्चों के लिए दोपहर का भोजन बनाया जा रहा था.

पुलिस ने इस मामले में पाँच हज़ार पन्नों का आरोप पत्र दाखिल किया था. अदालत में मामले की सुनवाई 24 सितंबर 2012 को शुरू हुई थी और 17 जुलाई 2014 को आरोपों पर बहस पूरी हुई.

इस दौरान अदालत में 501 लोगों की गवाही भी हुई.

पुलिस ने शुरू में 24 लोगों को अभियुक्त बनाया था, लेकिन बाद में तीन के ख़िलाफ़ आरोप वापस ले लिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार