माया कोडनानी को मिली ज़मानत

गुजरात की पूर्व मंत्री माया कोडनानी

गुजरात हाई कोर्ट ने नरेंद्र मोदी के गुजरात मंत्रिमंडल में मंत्री रहीं माया कोडनानी को 2002 दंगों के दौरान हुए नरोडा पाटिया मामले में ज़मानत दे दी है.

अदालत ने इस मामले में कोडनानी की सज़ा पर भी रोक लगा दी है.

अगस्त 2012 में गुजरात की एक विशेष अदालत ने माया कोडनानी और बजरंग दल नेता बाबू बजरंगी समेत 31 लोगों को नरोदा पटिया नरसंहार का दोषी करार दिया था.

कोर्ट ने उन्हें “नरोदा इलाके में दंगों की सरगना” क़रार दिया था और 26 साल क़ैद की सज़ा सुनाई थी.

इसके बाद नवंबर 2013 में गुजरात उच्च न्यायालय ने माया कोडनानी को स्वास्थ्य कारणों से तीन महीने की अस्थायी ज़मानत दे दी थी.

नरोदा पटिया दंगों के समय कोडनानी विधायक थीं और 2007 में नरेंद्र मोदी सरकार में उन्हें महिला और बाल विकास मंत्री बनाया गया था.

मार्च 2009 में गिरफ़्तारी के बाद उन्हें अपने पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)