सोशल सरगर्मी: सुज़ैन का '400 करोड़ का तलाक़'?

  • 30 जुलाई 2014
रोशन परिवार

पहलवान सुशील कुमार ने जब पाकिस्तानी पहलवान क़मर अब्बास को पटखनी देकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया तो मुक़ाबला ख़त्म होते ही लोग फ़ेसबुक पर उनके लिए बधाई संदेश लिखने में जुट गए.

यही वजह है कि सुशील कुमार और ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेल फ़ेसबुक पर सबसे ऊपर ट्रेंड कर रहे हैं.

इधर ट्विटर पर अलग-अलग ब्रांड और फ़िल्मों के प्रमोशन के बीच दो रोचक ट्रेंड दिख रहे हैं. दक्षिण अफ़्रीकी ऑलराउंडर ज़ाक कैलिस के संन्यास की घोषणा और ऋतिक रोशन से सुज़ैन के तलाक़ के लिए 400 करोड़ रुपए माँगने की ख़बर ट्विटर पर प्रमुखता से ट्रेंड कर रही है.

सुज़ैन वाली ख़बर पर लोगों ने रोचक टिप्पणियाँ की हैं.

ट्विटर पर चुटकी

विकास झा @CarelessVik नाम से लिखते हैं, "उन्होंने 400 करोड़ माँगे हैं. कोई चिंता की बात नहीं है, उन्हें पाँच किलो टमाटर दे दो, वह संतुष्ट हो जाएँगी."

अमित ने @Amit_smiling नाम से लिखा है, "तलाक़ के बाद सुज़ैन, सुज़ैन रोशन नहीं रहेंगी. मगर 400 करोड़ मिलने के बाद सुज़ैन का भविष्य ज़रूर रोशन हो जाएगा."

गब्बर सिंह नाम से एक ट्वीट में लिखा गया है, "सुज़ैन ने कौन बनेगा करोड़पति का नया सीज़न शुरू होने से पहले ही जीत लिया है."

जबकि मिस चैनेंडलर बॉन्ग नाम से लिखे ट्वीट में कहा गया है, "अगर हृतिक रोशन सुज़ैन को 400 करोड़ दे सकते हैं तो वह निश्चित रूप से कृष 3 के मेरे टिकट के पैसे तो लौटा ही सकते हैं."

छा गए सुशील कुमार

सुशील कुमार की तस्वीर मैच के तुरंत बाद जैसे ही बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पेज पर आई, उसे दनादन लाइक मिलने लगे. उनकी जीत की इस ख़बर को हमारे पन्ने पर लगभग 20 हज़ार लोगों ने लाइक किया और बधाई दी.

इमेज कॉपीरइट AP

पाठकों को शायद कुछ ज़्यादा ख़ुशी इस बात की भी थी कि उन्होंने कुश्ती के मुक़ाबले में एक पाकिस्तानी पहलवान को पछाड़ा. लोगों ने अपने कमेंट्स में इसका ज़िक्र भी किया है.

ग्लासगो और सुशील कुमार के अलावा सचिन तेंदुलकर भी फ़ेसबुक ट्रेंड में ऊपर हैं. इस बार मसला उनके भारत रत्न का है.

दरअसल हेडलाइंस टुडे समाचार चैनल ने अपने सूत्रों के ज़रिए कुछ सरकारी पत्राचार सार्वजनिक किए हैं.

इसके मुताबिक़ भारतीय खेल मंत्रालय ने पहले हॉकी के जादूगर माने जाने वाले ध्यान चंद का नाम भारत रत्न के लिए प्रस्तावित किया था, मगर बाद में प्रधानमंत्री कार्यालय ने तुरत-फुरत में ये सम्मान सचिन तेंदुलकर को देने का फ़ैसला कर लिया.

इमेज कॉपीरइट AFP

लोग पुणे के पास हुए भूस्खलन और रूस पर अमरीका तथा यूरोप के नए प्रतिबंधों की भी चर्चा कर रहे हैं.

बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पन्ने पर बुधवार को लोगों ने सबसे ज़्यादा ग़ज़ा में संयुक्त राष्ट्र के एक स्कूल पर हुई गोलाबारी की ख़बर को शेयर किया है.

संबंधित समाचार