भूस्खलन में मरने वालों की संख्या 66 हुई

मालिन हादसा इमेज कॉपीरइट AP

महाराष्ट्र में पुणे के पास हुए भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 66 हो गई है.

भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन के बाद क़रीब पूरा मालीण गांव मलबे में दब गया था. यह गांव पश्चिम घाट की पहाड़ियों की तलहटी पर बसा था और इसमें क़रीब 70 मकान थे.

मलबे से अभी तक 66 शवों को निकाला जा चुका है. नौ लोगों को मलबे से जिंदा निकाला गया है.

अधिकारियों का कहना है कि सौ से ज़्यादा लोग अब भी मलबे में दबे हैं और उनके जिंदा बचे होने की उम्मीद कम है.

तबाही

राहतकर्मी दिन रात काम में जुटे हैं. गांव वालों के एक दल का नेतृत्व कर रहे एक राहतकर्मी ने कहा कि इस आपदा ने गांव में भारी तबाही मचाई है.

उन्होंने कहा, "गांव में एक मंदिर था जिसका स्तंभ 30 मीटर ऊंचा था. उसका कहीं नामोनिशान नहीं है और स्कूल की इमारत के अवशेष आप देख सकते हैं. बाक़ी कुछ नहीं बचा है. इस मलबे ने सब कुछ लील लिया है."

इमेज कॉपीरइट AFP

मलबे से ज़िंदा निकाले गए लोगों का मालीण गांव से 60 किलोमीटर दूर मनचर के सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

इमेज कॉपीरइट AP

इस बीच लगातार हो रही भारी बारिश के कारण बचाव कार्य प्रभावित हो रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार