हिंदी के लिए आंदोलन कितना जायज़?

प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय भाषाओं में सिविल सेवा परीक्षा देने वाले प्रतियोगी सिविल सर्विसेज़ एप्टीट्यूड टेस्ट यानी सी-सेट में अँग्रेज़ी माध्यम वालों को प्राथमिकता दिए जाने का आरोप लगा रहे हैं.

कितना दम है उनके इस आरोप में और क्या ऊँचा अफ़सर बनने के लिए अँग्रेज़ी आना ज़रूरी है?

दूसरी ओर जिस तरह इस मुद्दे को हिंदी की अस्मिता से जोड़ा जा रहा है क्या वो उचित है?

इस मुद्दे पर दिल्ली में लगातार आंदोलन चल रहा है और संसद में भी इसकी गूँज सुनाई दी है. लेकिन अगर नहीं सुनाई दी तो आपकी आवाज़.

इस शनिवार बीबीसी हिंदी रेडियो के कार्यक्रम इंडिया बोल में इसी विषय पर होगी बहस.

कार्यक्रम में शामिल होने के लिए हमें मुफ़्त फ़ोन कीजिए 1800-11-7000 और 1800-102-7001 पर. अपनी राय ज़ाहिर करने के लिए आइए हमारे फ़ेसबुक पेज पर.