क्यों है शाहरुख़ को 555 से प्यार?

  • 5 अगस्त 2014
शाहरुख़ ख़ान Image copyright AFP

क्या आप उन लोगों में से हैं जो इस बात पर भरोसा करते हैं कि किसी टोटके या फिर थोड़े-बहुत जुगाड़ से तक़दीर का पहिया अपने हक़ में घुमाया जा सकता है?

जवाब अगर हां है तो आप इन सब ‘बड़े’ लोगों की क़तार में गिने जा सकते हैं जो कामयाबी हासिल करने के लिए अंधविश्वास की किसी भी हद तक चले जाते हैं और टोटकों पर ज़्यादा भरोसा करते हैं.

इन ‘बड़े’ लोगों में फिल्मी सितारे, क्रिकेट खिलाड़ी, नेता और न जाने कौन-कौन शामिल हैं.

ख़ुद को फिल्मी दुनिया का ‘किंग’ कहने वाले शाहरुख़ ख़ान की हालत यह है कि वे अपनी तमाम गाड़ियों का नंबर 555 ही लेना चाहते हैं.

कुत्ते का किस्मत कनेक्शन!

हाल ही में जब ‘किंग’ ख़ान की आईपीएल टीम कोलकता नाइट राइडर्स ने डूबते-उबरते ख़िताब जीत लिया तो इस जीत का श्रेय दिया गया कप्तान गौतम गंभीर की जर्सी को.

Image copyright PTI

क्यों? इसलिए कि न्यूमरोलॉजिस्ट ने उन्हें सलाह दी थी कि वे अपनी जर्सी पर 23 नंबर डलवा लें. और लीजिए, टीम जीती तो इस जर्सी नंबर 23 की बड़ी वाह-वाही हुई.

अपने ज़माने के सदाबहार हीरो अशोक कुमार अंधविश्वास की हद तक इस बात को मानते थे कि अगर किसी कार के नंबर प्लेट पर सात का अंक होगा तो उस कार का एक न एक दिन एक्सीडेंट ज़रूर होगा.

उनकी एक बात और जान लें. उनको इस बात पर भरपूर यक़ीन था कि घर में कुता पालने से इंसान का भाग्योदय होता है.

सफ़ेद साड़ी

Image copyright official website

ग्रेटेस्ट शो मैन कहलाने वाले राज कपूर भी इस मर्ज़ से मुक्त नहीं थे. शॉट लेते वक़्त अगर बीच में ही कोई छींक दे तो वे शूटिंग ही रोक देते थे. दो मिनट तक ‘लाइट्स ऑफ़’ करवाने के बाद ही दोबारा शूटिंग शुरू होती थी. इसी तरह वे अपनी हर हीरोइन को किसी एक सीन में सफेद साड़ी ज़रूर पहनाते थे.

संगीतकार ओपी नैयर अपने मधुर संगीत और अक्खड़ मिज़ाज के लिए जितने प्रसिद्ध थे उतने ही वे ज्योतिष में अपने अंधविश्वास की हद तक आस्था रखने के लिए भी जाने जाते थे.

जब आशा भोसले के साथ उनका विवाद और अलगाव हुआ तो उन्होंने यही कहा था कि उन्हें इस बात का पहले से ही पता था, इसलिए उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ.

ज्योतिष के ज़रिए इस अलगाव को उन्होंने पहले ही देख लिया था. वे बात-बात पर हाथ की रेखाओं को पढ़ने की बात करते थे.

(अंधविश्वास और सितारों की इस सिरीज़ की अगली कड़ी में पढ़िए कि कपिल देव की विश्व कप में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ 175 रन की पारी के पीछे क्या टोटका था)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार