केरलः 60 बच्चे फिर अस्पताल में भर्ती हुए

गैस रिसाव, फ़ाइल फ़ोटो

केरल के कोलम में टाइटैनियम उत्पादन करने वाले एक धातु संयंत्र (मेटल प्लांट) में गैस रिसाव से प्रभावित 60 बच्चों को फिर से अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

इनमें से अधिकांश को बुधवार सुबह प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी.

अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि किस गैस का रिसाव हुआ है. रिसाव के कारणों की पड़ताल के लिए दो जांच समितियां बनाई गई हैं.

गैस रिसाव की जाँच

केरल मिनरल्स और मेटल्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक माइकेल विथासिरोमोनी ने बीबीसी को बताया, "हमने कल सभी क्लोरीनैटर्स को बंद कर दिया था. लेकिन आज गैस लीक की कोई घटना नहीं हुई. इस कारण से गैस लीक होने के स्रोत का पता नहीं चल सका. डॉक्टरों भी नहीं समझ पा रहे हैं कि लीक होने वाली गैस क्लोरीन है या कार्बन मोनोऑक्साइड."

वहीं केरल की सरकार ने विशेषज्ञों की एक टीम की जांच पूरी होने तक इस संयंत्र को बंद कर दिया गया है. इसके अलावा गैस रिसाव के कारणों की जांच अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (इंटेलीजेंस) भी कर रहे हैं.

कोलम के ज़िलाधीश प्रणब ज्योति नाथ ने कहा, "प्लांट के आसपास के इलाक़े के छह स्कूलों और दो कॉलेजों को सोमवार तक के लिए बंद कर दिया गया है."

यह भारत का इकलौता ऐसा संयंत्र है जो टाइटैनियम का उत्पादन करता है, जिसका इस्तेमाल रॉकेट बनाने में किया जाता है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार