छोड़ कर रिश्तेदारी, ठानी जानवरों से यारी

  • 8 अगस्त 2014
पटना के पशुप्रेमी प्रवीण और उनकी पत्नी अमृता इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

दूल्हे घोड़े पर चढ़कर भी दुल्हन के घर पहुंचते हैं...

लेकिन प्रवीण कुमार के बेटे प्रियेश की बारात की नजारा कुछ दूसरा होगा.

(चार कमरे और 69 पालतू जानवर)

नवंबर में जब बारात प्रवीण के घर से निकलेगी तो घोड़ा एक सवारी की तरह नहीं बल्कि बाराती बनकर शादी में शामिल होगा.

साथ ही कुत्ते, बंदरिया, बकरी, बछिया भी सज-संवर कर बारात का हिस्सा बनेंगे.

बकौल प्रवीण ये सभी वीआईपी बाराती रहेंगे.

कौन हैं प्रवीण और ये 'वीआईपी' जानवर, पढि़ए इस रिपोर्ट में.

पटना के प्रवीण

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

पटना के राजेंद्र नगर इलाके में रहने वाले बैंक अधिकारी प्रवीण, पत्नी अमृता और सोलह जानवरों के भरे-पूरे परिवार के साथ अपने दो मंजिला मकान 'शिवहर निवास' में रहते हैं.

(पालतू जानवरों पर अरबों का खर्च)

परिवार में तीन कुत्ते, दो कुतिया, तीन पिल्ले, एक बंदरिया, एक घोड़ा, एक बकरी, दो गाय और तीन बछिया शामिल हैं.

शुरुआत

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

शादी के बाद अमृता के विरोध ने प्रवीण को मन-मारने पर मजबूर कर दिया था.

लेकिन साल 2009 में मुंबई से स्थानांतरित होकर जब प्रवीण पटना लौटे तो अकेलेपन से बचने को वे घर में चार कुत्ते ले आए.

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

पत्नी ने लौटने पर विरोध तो नहीं किया, लेकिन नाराज़ जरूर हुईं.

लेकिन अमृता अपने पति के शौक को पूरा करने में मदद भी करने लगीं और धीरे-धीरे उन्हें भी जानवरों से प्यार हो गया.

शिकायत और परेशानी

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

अमृता शिकायत करती हैं कि बंदरिया हेमा बहुत परेशान करती है.

हेमा उनके घर खासकर बेडरूम और रसोई में मौका मिलते ही सब-कुछ बिखेर देने से नहीं चूकती.

लेकिन हेमा अगर परेशान करती है तो कुत्ता कालू घर से निकलने पर हमेशा उनकी सुरक्षा में साथ-साथ चलता है.

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

अमृता के अनुसार, जानवरों को ज़्यादा लगाव प्रवीण से ही है और अगर प्रवीण घर पर हों तो जानवर उनके पास तभी मंडराते हैं जब उन्हें भूख लगती है.

वहीं दूसरी ओर सोलह जानवरों के साथ ज़िंदगी बिताते हुए पति-पत्नी दोनों के लिए एक साथ बाहर निकलना मुमकिन नहीं रह गया है.

ऐसे में वे अब पटना से बाहर पारिवारिक आयोजनों में नहीं जा पाते हैं.

रॉकी और लालू यादव

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

कुत्ते रॉकी की अब मौत हो चुकी है. कई डॉग शो के विजेता रहे रॉकी ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को भी अपने हुनर से हैरान कर दिया था.

रॉकी लालू यादव के हाथों से चाबी लाकर प्रवीण को देता और ऐसे दूसरे कई करतब दिखाता था और बदले में बकौल प्रवीण लालू उसे मिठाई खिलाते थे.

ट्रैफिक जाम

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

प्रवीण जब भी जानवरों को लेकर मोटरसाइकिल या कार में लेकर निकलते हैं तो लोग फोटो खींचते हैं, वीडियो बनाते हैं. कभी-कभी तो ट्रैफिक जाम हो जाता है.

लोगों की भीड़ गंगा के उन घाटों पर भी जुटती है जहां प्रवीण अक्सर जानवरों के साथ जाते हैं.

कुत्ते प्रवीण द्वारा फेंकी गई गेंद या बोतल को लाने के लिए पानी में कूदते हैं और किसी एक कुत्ते के पीठ पर बंदरिया हेमा चिपक जाती है.

ख़्वाहिश

इमेज कॉपीरइट MANISH SAANDILYA

प्रवीण कहते हैं कि उन्हें जानवरों से प्यार है और वे जानवरों का ध्यान रखते हैं, उन पर होने वाले खर्च का नहीं.

इसके उलट, खर्च की चिंता पीछे छोड़ प्रवीण अपने परिवार को और बड़ा करने के बारे में सोच रहे हैं. वे घोड़ी, बाज और अरवाना मछली पालने का शौक भी पूरा करना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार